Aankho Ki Roshni Kaise Badhaye

दोस्तों क्या आप जानते हैं पूरी दुनिया में करीबन 75% से भी ज्यादा लोग आज आंखों से संबंधित किसी ना किसी रोग से पीड़ित है यह कमजोरी की वजह से आंखों पर चश्मा लगा हुआ है। इसकी वजह है, शरीर में जरूरी पोषक तत्व की कमी, इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज का इस्तेमाल दुगनी रफ़्तार से बढ़ना और आंखों की देखभाल में लापरवाही बरतना। तो आईये जानते हे aankho ki roshni kaise badhaye.

हम सभी को अपने चेहरे, बाल, त्वचा और शरीर की सफाई बड़े ध्यान से करते हैं लेकिन किसी भी व्यक्ति को यही याद ही नहीं होगा आखिरी बात उसने अपनी आंखों की देखभाल के लिए कोई भी प्रयास कब किया था। दूर या पास का साफ साफ नहीं दिखाई देना, पढ़ते समय सर दर्द या आंखों से पानी आना, आंखों में अक्सर भारीपन रहना, रात के समय दिखाई ना देना या बिना चश्मे के कुछ भी ठीक तरह ना देख पाना यह सब ही आंखों की कमजोरी के लक्षण होते है। आंखों की कमजोरी के चलते जब एक बार किसी व्यक्ति को नंबर का चश्मा लग जाता है।

तो सभी का यही मानना होता है कि या तो यह चश्मा उम्र भर लगाना पड़ेगा या फिर आंखों को दोबारा ठीक करने के लिए ऑपरेशन या लेज़र ट्रीटमेंट करवाना पड़ेगा। लेकिन असल में सिर्फ अपने खान-पान और लाइफस्टाइल को चेंज करके अगर कुछ खास नेशनल चीजों को अपनी रेगुलर डाइट में शामिल किया जाए तो इससे आंखों की कमजोरी तेजी से दूर भी होती है। और साथ ही धीरे-धीरे बिना चश्मे की भी पहले से ज्यादा साफ दिखाई देने लगता है।

ऐसे कई लोग हैं जो आंखों की कमजोरी के कारण पिछले 10 – 15 सालों से लगातार आंखों पर चश्मा और कांटेक्ट लेंस का यूज किया करते थे। लेकिन बाद में इन आसान उपायों के इस्तेमाल से उन्होंने अपनी आंखों को पूरी तरह ठीक और पहले से ज्यादा स्वस्थ बना लिया। जैसे जैसे आप रोजाना अपनी आंखों के इंप्रूवमेंट के लिए समय देने लगते हैं वैसे वैसे कमजोर आंखों की मांसपेशियां दोबारा मजबूत होने लगती है और आंखों की शक्ति पहले से भी ज्यादा बेहतर बन जाती है।

आइए जानते हैं आंखों की रोशनी दोबारा बेहतर करने के लिए कुछ बेहद असरदार उपाय। सबसे पहले बात करते हैं कुछ आंखों पर लगाए जाने वाले नुस्खों कि उसके बाद हम जानेंगे कुछ खाए जाने वाली चीजों और जरूरी सावधानियों की जिनका ध्यान रखना बहुत अनिवार्य है। खान-पान के साथ-साथ आंखों की नसों को आराम पोहचाने और देखने की शक्ति को पहले से ज्यादा बेहतर करने के लिए आंखों पर कुछ विशेष चीजों के इस्तेमाल से कमाल का बदलाव आने लगता है।

Aankho Ki Roshni Kaise Badhaye:

1) सौंफ और खीरा:

सौंफ और खीरे को मिलाकर आंखों पर लगाने से आंखों में आई कमजोरी में तेजी से सुधार आता है। इसके लिए सबसे पहले सौंफ को थोड़े से पानी में 1 से 2 घंटे गला कर रखे। नरम हो जाने के बाद इसे आधे खीरे के साथ मिक्सर में चला कर पेस्ट बना लें।

अब इस तैयार पेस्ट को अपनी आंखों पर 30 से 40 मिनट के लिए रख ले। अगर आपका दिन भर पढ़ने या फिर कंप्यूटर इस्तेमाल करने का काम है तो इस मिश्रण से मिलने वाली ठंडक को बढ़ाने के लिए पेस्ट तैयार हो जाने के बाद इस 10 मिनट फ्रिज में ठंडा होने के लिए रख दें।

ऐसा करने से इसकी ठंडक बढ़ जाती है और आंखों को काफी आराम मिलता है सौंफ के पानी से लेकर इसका पौधा और इसे खाना भी आंखों के लिए काफी अच्छा माना जाता है। सौंफ और खीरे के इस मिश्रण का असर और अधिक बढ़ाने के लिए इसे यूज करने से पहले आंखों की 10 मिनट अच्छी तरह मसाज करना भी जरूरी है।

2) बादाम और अरंडी:

मसाज के लिए बादाम और अरंडी का तेल सबसे बेहतर होता है। दोनों में से किसी एक या फिर दोनों ऑयल को आपस में मिलाकर आंखों की मसाज की जा सकती है। आंखों के आसपास और आंखों को बंद करके पलकों पर सर्कुलर मोशन में 10 से 15 मिनट उंगलियों की सहायता से हल्की हल्की मसाज करें। ऑयल मसाज करने से आंखों की नसों में ब्लड सरकुलेशन बढ़ता है और आंखों की रोशनी पहले से ज्यादा बेहतर बनती है।

मसाज करने के दौरान अगर थोड़ा बहुत तेल आंखों में चला भी जाता है तो इससे आंखों को कोई नुकसान नहीं है पर ध्यान रहे बादाम और अरंडी का तेल 100% एक्स्ट्रा वर्जिन और कोल्ड प्रेस हो और पूरी तरह केमिकल फ्री हो।

जिन लोगों को दूर यां पास का ठीक तरह से नहीं दिखाई देता या आंखों की कमजोरी के चलते बार-बार सर में दर्द होता रहता है उन्हें आंखों की मसाज और खीरे वाले नुस्खे को हफ्ते में कम से कम दो से तीन बार रात को सोने से पहले जरूर इस्तेमाल करना चाहिए। इन दोनों ही तरीकों से ना सिर्फ आंखों की कमजोरी दूर होती है बल्कि आंखों की चमक भी बढ़ती है। और जिन लोगों को आंखों के आसपास काले घेरे यानी की dark circles है इन दोनों उपाय से पूरी तरह ठीक हो जाते हैं।

खान-पान और डाइट की अगर बात की जाए तो जिन लोगों की आंखें एक बार कमजोर हो जाती है। उन्हें हमेशा अपना पेट अच्छी तरह साफ रखना चाहिए। क्योंकि पेट ठीक तरह से साफ नहीं होने जबकि समस्या की वजह से आंखों की सेहत पर बहुत बुरा असर पड़ता है और आपका पेट रोजाना सुबह ठीक तरह से साफ नहीं होता तो रात को सोने से पहले त्रिफला चूर्ण का सेवन करें या अपने रेगुलर डाइट में सलाड की मात्रा को बढ़ाएं और पपीते जैसे हाई फाइबर फूड को शामिल करें।

शरीर के सभी अंगो की तरह ही हमारी आंखों की प्रॉपर फंक्शनिंग के लिए कुछ खास nutrients की जरूरत होती है। जिनकी कमी होने पर ही हमारी आंखें धीरे-धीरे कमजोर होना शुरू हो जाती है। अगर रोजाना कुछ ऐसी चीजों को खाना शुरु कर दिया जाए जिनमें आंखों के लिए जरूरी सभी पोषक तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हो। तो कमजोर आंखें भी तेजी से ठीक होने लगती है और आंखों की रोशनी आने की आंखों की देखने की क्षमता पहले से भी ज्यादा बेहतर हो जाती है।

3) पूरी नींद ले:

पूरी नींद लेना सभी लोगों के लिए बहुत ही जरुरी हे। आपको कम से कम 8-10 घंटे की नींद तो लेनी ही चाहिए। पूरी नींद लेने से आपकी आँखों की मासपेशियो को और साथ ही साथ आपके शरीर को भी आराम मिलता हे इसलिए पूरी नींद लेना बहुत ही जरुरी है।

4) एलोवेरा:

ताज़े एलोवेरा का जूस बालों और आंखों की सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है। जिन लोगों को दूर यां पास का ठीक तरह से नहीं दिखाई देता, या आंखों पर चश्मा लगा हुआ है उन्हें अपने घर में या घर के आस-पास एलोवेरा जरूर लगाना चाहिए बाजार में मिलने वाले एलोवेरा जूस का फायदा हो या ना हो लेकिन घर में लगा एकमात्र एलोवेरा का पौधा ही आपकी आंखों पर लगा चश्मा हटाने के लिए काफी है।

एलोवेरा के अंदर 20 अलग-अलग प्रकार के एमिनो एसिड पाए जाते हैं कई तरह के मिनरल्स जैसे कि कैल्शियम, पोटेशियम, आयरन और मैग्नीशियम तथा विटामिन A, विटामिन B इसमें भरपूर मात्रा में होता है। यह आंखों को शक्ति प्रदान करने के साथ-साथ आंखों की कई बीमारियां जैसे कि ग्लूकोमा, आंखों का सूखापन कैटरेक्ट और कंजेक्टिवाइटिस जैसी सभी तरह की समस्याओं को भी दूर करता है।

ताज़े एलोवेरा का जूस बनाने के लिए सबसे पहले एलोवेरा की पत्तियों में से इसका जेल अलग कर ले और फिर इस जेल को मिक्सर में चलाकर पतला जूस बना लें। इसके बाद गैस पर मध्यम आंच पर पानी गर्म होने के लिए रखें। पानी की मात्रा तैयार एलोवेरा जूस के बराबर क्यों होना चाहिए। पानी गर्म हो जाने के बाद इसमें एलोवेरा का जूस मिक्स कर दें और इसे 10 मिनट तक मध्यम आंच पर पकाएं।

पकाते समय इसमें थोड़ा झाग बनेगा उस झागको बीच-बीच में निकालते रहे। 10 मिनट पकाने के बाद इसे छान लें और ठंडा हो जाने के बाद इसे किसी कांच या प्लास्टिक की बोतल में भरकर रख लें। फ्रिज में रखने पर यह 10 से 15 दिन तक खराब नहीं होता। रोजाना 30-40ml जूस का सेवन दिन में दो बार खाना खाने के पहले करें।

इसका स्वाद और असर बढ़ाने के लिए इसमें नींबू का रस शहद में मिलाया जा सकता है। घर पर बनाएं एलोवेरा जूस इतना असरदार होता है की इस शुरुआत के मात्र 10 से 15 दिनों के अंदर ही इसका असर नजर आने लगता है।

5) आंवले का जूस:

आंवले का जूस और गाजर तथा पालक का जूस भी आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। रोजाना सुबह खाली पेट आंवले का जूस और नाश्ते के समय गाजर और पालक के जूस का सेवन करने से आंखों में आई हर तरह की कमजोरी को पूरी तरह ठीक किया जा सकता है। इनमें विटामिन A, विटामिन C और विटामिन D भरपूर मात्रा में पाया जाता है। जो खासकर आंखों में आई कमजोरी को दूर करने के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है।

ज्यादातर आंखों में आई कमजोरी की वजह आंखों का सूखापन भी होता है खासकर उन लोगों में जो लगातार कंप्यूटर और मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं। आंखों में मौजूद पानी की कमी होने से आंखों पर बाहरी वातावरण का बुरा असर 2 गुना ज्यादा बढ़ जाता है और देखने की शक्ति अचानक कम होने लगती है। ऐसी स्थिति में ऑलिव ऑयल और फ्लेक्सिफाई का सेवन करना चाहिए।

इन दोनों में ही ओमेगा 3 ओमेगा 6 फैटी एसिड और विटामिन D भरपूर मात्रा में पाया जाता है। यह ना सिर्फ हमारी बॉडी के सेल मेंब्रेन को प्रोटेक्ट करते हैं बल्कि आंखों के मॉइस्चर को भी बढ़ाते हैं। हमारी बॉडी इन ऑयल को बहुत जल्दी और आसानी से पचा लेती है जिससे इनका असर भी कुछ ही दिनों में दिखाई देने लगता है।

6) ड्राई फ्रूट:

ड्राई फ्रूट जैसे कि बादाम, अखरोट और काजू भी आंखों की कमजोरी दूर करने के लिए काफी उपयोगी माने जाते हैं। लेकिन इनका पूरा फायदा उठाने के लिए इन्हें खाने का सही तरीका पता होना बहुत जरूरी है। सभी तरह के ड्राई फ्रूट में मौजूद पूरे नुट्रिएंट्स प्राप्त करने के लिए हमेशा इन्हे 3 -4 घंटे पानी में गला कर खाए।

पानी में गलाने से इन से होने वाले फायदे दुगनी हो जाते हैं और कम समय में ही अच्छे रिजल्ट नज़र आने लगते हैं। रोजाना अखरोट 1, 5 बादाम और 5 काजू दिन भर पानी में गला कर रखें और शाम के समय छिलके उतारकर इनका सेवन करें।

7) पलकें झपकाना (Quick Blinking Exercise):

Quick Blinking में आप अपनी पलक जपकाते हो। मतलब आप जैसे नार्मल करते हो वैसे नहीं पर जल्दी जल्दी जपकाना हे। इससे आपकी आँखों की बोहत सारी मसल्स इस्टेमुलेट होती हे यानि उसमे गतिविधि होती हे। जिसके चलते आपकी आँखों की अंदर की ब्लड सर्कुलेशन यानि रक्त परीसंचार अच्छी होती हे।

जब भी आप बोहत देर तक समने देखते हो जैसे पढ़ते समय तब आप बोहत काम पलके झपकते हो यानि आप सामान्य मात्रा के मुताबिक बोहत कम बार पलके जुकाते हो इसलिए पढ़ने के बिचमें बस एक मिनट के लिए टाइम निकल के जल्दी जल्दी पलक जरूर जपकाना ताकि आपकी आँखे सेफ रहे।

8) व्यायाम (Excercise):

रोजाना शारीरिक व्यायाम करें exercise शरीर के सभी अंदरूनी और बाहरी अंगों को सेहतमंद बनाए रखने के लिए बहुत फायदेमंद होती है। रोजाना सुबह या शाम केवल हल्की-फुल्की वॉक करने से ही शरीर का ब्लड सरकुलेशन संतुलित रहता है। इससे किए गए किसी भी इलाज नुस्खे और दवाइयों का असर बॉडी पर जल्दी नजर आता है।

9) धूम्रपान न करे:

अगर आपको स्मोकिंग यानी कि धूम्रपान करने की आदत है तो इस स्थिति में आंखों की कमजोरी को किसी भी तरीके से ठीक करने में काफी ज्यादा समय लग सकता है। धूम्रपान से हमारे शरीर का खून दूषित होता है जिसकी वजह से किसी भी इलाज का असर बॉडी पर नजर ही नहीं आता।

10) पानी पीएं:

पानी ज्यादा से ज्यादा पीएं पानी ज्यादा पीने से शरीर में टॉक्सिंस जमा नहीं होते और साथ ही आंखों की चमक भी बढ़ती है।

सावधानियां:

आंखों की देखभाल करते समय इन बातो क्या ध्यान रखना बहुत जरूरी है। सबसे पहले अपनी आंखों को धोने की आदत डाले। सुबह और शाम के अलावा दिन में भी एक बार अपनी आंखों को ठंडे पानी से जरूर धोएं और साथ ही जब भी आप बाहर के प्रदूषण वाले वातावरण से घर में आए उस समय अपनी आंखों की सफाई का विशेष ध्यान रखें।

धूप में हमेशा सनग्लासेस पहने और अगर आप लंबे समय तक कंप्यूटर पर बैठे रहने का काम करते हैं तो जितनी देर आप कंप्यूटर स्क्रीन के सामने रहे कम से कम इतनी देर तक कंप्यूटर की इलेक्ट्रोमैग्नेटिक rays से प्रोटेक्शन पहुंचाने वाले चश्मे का इस्तेमाल करें।

तो हम उम्मीद करते हैं ये Aankho Ki Roshni Kaise Badhaye आर्टिकल आपको पसंद आया होगा।

और पढ़ें: Top 11 High Protein Foods in Hindi

Categories: FitnessHealth

About the Author

About the Author

Hello, I Am Parth Kanojiya. I Am A Founder And Author Of HindiAdviser. I Am A Blogger And I Share Internet Related Information For My Readers On This Blog.

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *