badam khane ke fayde

image source: canva

दोस्तों बादाम एक सुपर food की श्रेणी में आता है इसलिए कहा जाता है कि बादाम का नियमित रूप से इस्तेमाल करने से यह बहुत सारी बीमारियों से हमें बचाए रखता है। जो लोग भी बादाम का इस्तेमाल करना चाहते हैं उन्हें शुरुआत में इस बात की बिल्कुल भी जानकारी नहीं होती के बादाम को कब, कैसे और कितनी मात्रा में खाने से क्या फायदे और क्या नुकसान होते हैं। जिसकी वजह से बादाम का daily इस्तेमाल करने के बावजूद उन्हें कभी भी सही फायदा मिल ही नहीं पाता है. पर आपको पता है Badam Khane Ke Fayde क्या है?

बादाम बहुत ही पोषक तत्वों से भरपूर होता है इसको खाने से हमारा शरीर बहुत ही स्वस्थ रहता है। हमारा दिमाग बहुत हेल्दी बनता है और पहले से ही यानी पुराने जमाने से ही हम यह सुनते आए हैं कि बादाम खाओ बहुत ताकत मिलती है। स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है। आज भी हमारे घर में दादीमां नानीमां यही बोलती है कि बच्चों को बादाम खिलाओ। तो आज हम कुछ ऐसे फायदे के बारे में आपको बताने वाले हे जो हमको बादाम खाने से मिलते हैं।

Table of Contents

Badam Khane Ke Fayde – बादाम खाने के फायदे:-

बादाम खाने के 10 फायदे निम्नलिखित हैं:

1) याददाश्त बढ़ाएं (increases memory)
2) अपने दिल को स्वस्थ रखता है (keep your heart healthy)
3) बेहतर ब्लड सर्कुलेशन (better blood circulation)
4) हड्डियों और दांतों को मजबूत करती है (make bones and teeth strong)
5) कैंसर के खतरे को कम करता है (reduces chances of cancer)
6) शरीर को मजबूत बनता है (strengthen your body)
7) मधुमेह के मरीजों के लिए मददगार (benefits in diabetes)
8) गर्भावस्था में उपयोगी (useful in pregnancy)
9) त्वचा के लिए अच्छा है (good for the skin)
10) बालों के लिए अच्छा है (good for hair)

1) याददाश्त बढ़ाएं:

यह हमारी याददाश्त को बहुत अच्छा करता है। हम आज भी देखते हैं कि अगर हम कोई चीज भूल जाते हैं तो हमारे मित्र, हमारे दोस्त या हमारे रिश्तेदार हमें यही बोलते हैं कि बादाम खाया करो। यानी बादाम हमारे दिमाग के लिए बहुत अच्छा है अगर किसी व्यक्ति को अल्जाइमर की प्रॉब्लम है या नहीं भूलने की समस्या है तो ऐसे में बादाम काफी फायदेमंद साबित होता है।

अल्जाइमर पेशेंट जो होते हैं उनको बादाम को रात को कच्चे दूध में गला के रखना है और सुबह उसको छिलका उतार कर खा लेना है। आप पानी में भी गला के बादाम खा सकते हैं अगर रेगुलर आप इस्तेमाल करते हैं आप छोटे बच्चों को भी अगर बादाम देंगे तो याददाश्त काफी अच्छी होती है क्योंकि बादाम में एंटीऑक्सीडेंट तत्व और विटामिन ए पाया जाता है. जो हमारे दिमाग के लिए ब्रेन के लिए बहुत अच्छा होता है।

2) अपने दिल को स्वस्थ रखता है:

यह हमारे दिल को स्वस्थ रखता है दोस्तों हमारे शरीर में हमारे दिल का बहुत इंपॉर्टेंट योगदान होता है यानी दिल अगर अच्छे से काम करता है तभी हमारा शरीर अच्छे से काम करता है। अगर दिल काम करना बंद कर देता है तो हमारा शरीर कुछ नहीं होता है तो हमें हमारे दिल की देखभाल करनी चाहिए बादाम उसके लिए बहुत मददगार साबित होता है।

नियमित रूप से अगर हम 5 दिन भी सप्ताह में बादाम का सेवन करते हैं तो सामान्य व्यक्ति की अपेक्षा हम लोगों को 50% तक हार्ट अटैक का खतरा कम होता है। बादाम का सेवन आप भिगो के कर सकते हैं रात भर उसको पानी में, या दूध में या कच्चे दूध में भिगोकर रखें और सुबह उसका छिलका उतर कर खा सकते हैं।

3) बेहतर ब्लड सर्कुलेशन:

यह हमारा ब्लड सर्कुलेशन ठीक करता है यानी ब्लड को शुद्ध करने के साथ-साथ उसका सरकुलेशन यानी ब्लड संचार जो होता है हमारे शरीर में उसकी प्रणाली को भी सुव्यवस्थित करता है। बादाम में पोटेशियम की मात्रा ज्यादा पाई जाती है और सोडियम की मात्रा कम होती है जो ब्लड सर्कुलेशन में काफी मददगार होती है।

अगर हमारे शरीर में रक्त संचार यानी जो ब्लड सरकुलेशन है वह अच्छे से हो रहा है तो शरीर के अन्य अंगों है उनको ऑक्सीजन बहुत अच्छे से मिलता है और वह अच्छे से काम करते हैं।

4) हड्डियों और दांतों को मजबूत करती है:

यह हमारी हड्डियों के लिए और हमारे दांतो के लिए बहुत लाभदाई है। हैहड्डियों और दांतों को सबसे ज्यादा कैल्शियम की आवश्यकता होती है बादाम कैल्शियम से भरपूर माना जाता है इसमें कैल्शियम की जो मात्रा होती है बहुत अधिक पाई जाती है जो हमारी हड्डियों और दांतों को मजबूत करती है। इसके साथ-साथ यह अन्य जो हमारे पार्ट है मतलब शरीर में अगर मसल्स का मूवमेंट किसी तरह से कम है या बॉडी में जकड़न महसूस कर रहे हैं तो उसमें भी बादाम बहुत फायदेमंद साबित होता है।

हड्डियों को मजबूत करने के लिए या दांतो के लिए अगर आप बादाम का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आप चाहे तो बादाम को थोड़ा पीस लीजिए और मिश्री के साथ नियमित रूप से उसका सेवन कीजिए इसे इस्तेमाल करने के लिए एक चम्मच बादाम पाउडर और एक चम्मच दानेदार मिश्री को दूध में मिलाकर इसका सेवन करें। आप चाहे तो सुबह इसका सेवन कर सकते हैं चाहे तो आप रात को सोने से पहले का सेवन करें।

5) कैंसर के खतरे को कम करता है:

यह हमारे शरीर में कैंसर के खतरे को कम करता है। यानी हमारे शरीर में जो कैंसर की कोशिकाएं जो विकसित होती है। ऐसे में उन कोशिकाओं को यह बनने से रोकता है। बादाम में फाइबर बहुत मात्रा में पाया जाता है तो यह colon cancer के खतरे को भी कम करता है।

6) शरीर को मजबूत बनता है:

बादाम बहुत ही ताकतवर और शक्तिवर्धक food माना जाता है। अगर हम किसी तरह की कोई फिजिकल एक्सरसाइज या फिजिकल एक्टिविटी करते हैं तो ऐसे में बादाम का सेवन बहुत मददगार साबित होता है। बादाम का इस्तेमाल आपको बादाम को पीस कर और सफेद मुसली के साथ करना चाहिए।

अगर दो चम्मच पिसा हुआ बादाम और उसमें दो चुटकी सफेद मूसली मिला के उसका सेवन कीजिये। ये हमारी मसल्स को स्ट्रोंग करता है, मजबूत बनाता है, बॉडी में फ्लैक्सिबिलिटी लाता है अगर हम कोई फिसिकल एक्टिविटी कर रहे है तो हमारे शरीर का स्ट्रांग रहना बहुत जरूरी होता है तो बादाम ऐसे में काफी मददगार साबित होता है।

7) मधुमेह के मरीजों के लिए मददगार:

बादाम खाना डायबिटीज पेशेंट के लिए काफी फायदेमंद साबित होता है। सुबह-सुबह आप चाहे तो बादाम को पानी में गला कर या सूखा भी खा सकते हैं। डायबिटीज पेशेंट के लिए ब्लड सर्कुलेशन और रक्त में जो शर्करा पाई जाती है उनका एक लेवल तक रहना बहुत जरूरी होता है तो ऐसे में बादाम बहुत फायदेमंद साबित होता है।

8) गर्भावस्था में उपयोगी:

गर्भवती महिलाएं के लिए यह बहुत गुणकारी और बहुत ही फायदेमंद होता है। हम देखते हैं कि गर्भवती महिलाओं को डॉक्टर फॉलिक एसिड खाने की सलाह देते हैं यानि प्रेगनेंसी जैसे ही स्टार्ट होती है वैसे ही फोलिक एसिड की छोटी-छोटी गोलियां शुरू कर दी जाती है। तो ऐसे में अगर आप बादाम का सेवन भी करेंगे तो आपके लिए काफी फायदेमंद होगा।

क्योंकि बादाम में फोलिक एसिड काफी मात्रा में पाया जाता है जो गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद होता है उनके स्वास्थ्य के लिए यह बहुत अच्छा होता है। हैबादाम को रात भर पानी में गला कर रखिए तीन से पांच बादाम सुबह उठकर पानी से निकालकर उसका छिलका उतारकर इसका सेवन कीजिए।

9) त्वचा के लिए अच्छा है:

बादाम खाने से हमारी त्वचा को अंदर से जो moisture चाहिए होता है यानी शरीर के अंदर से हमारी त्वचा के लिए कितना ऑयल चाहिए होता है उसको संतुलित करता है बादाम। उसके बाद हमारी त्वचा पर जो डैमेज कोशिकाएं होती है , झुर्रियों होती हैं तो उसका मतलब है कि नीचे वाली जो पर्थ है उसने अच्छे से काम करना बंद कर दिया है।

यानी जो नीचे की त्वचा की शर्करा है , कोशिकाएं हैं , वह किसी वजह से डैमेज हो चुकी है तो बादाम खाने से वो शर्कराए रिपेयर हो जाती है, नई बनती है और उनमें मूवमेंट आता है जिससे हमारी स्किन ग्लोइंग होती है तो बादाम काफी फायदेमंद होती है।

10) बालों के लिए अच्छा है:

बादाम हमारे बालों के लिए बहुत अच्छी है। यानि हमारे बाल बहुत सूखे हो गए हैं, डल हो गए हैं, रफ हो गए है, बाल बहुत झड़ रहे हैं या पतले हो रहे हैं तो इन सब समस्याओं से भी बादाम काफी हद तक निजात दिला सकता है। 5 से 7 बादाम रात भर पानी में गला कर रखिए सुबह उठते ही खाली पेट दूध के साथ बादाम खाने हैं कुछ ही दिनों में आप महसूस करेंगे आपके बाल काफी चमकदार हो गए हैं, झड़ना भी कम हो गए हैं और वॉल्यूम भी बालों का अच्छा हो गया है।

Badam Khane Ke Nuksan – बादाम खाने के नुकसान:-

1) वजन बढ़ाना:

हालांकि बादाम कोलेस्ट्रॉल घटाने में मदद करता हे लेकिन इसमें वासा और कैलोरी की मात्रा बोहत अधिक होती हे। हर ऑन्स लगभग 28 ग्राम। बादाम में 14 ग्राम फैट और 163 कैलोरी होती हे। अगर आप बादाम से ली गयी कैलोरी को बर्न करने में नाकाम रहते हो तो यह आपका वजन बढ़ा सकता हे. 2000 कैलोरी की सामन्य डाइट का 20-25 फीसदी हिस्सा ही बादाम से आना चाहिए। वरना आपका वजन बढ़ सकता हे।

2) विटामिन E का ओवरडोज:

बादाम में विटामिन E अधिक मात्रा में होता हे। अगर आप बादाम के साथ ऐसी चीज़ो का सेवन करते हे जिसमे विटामिन E की मात्रा ज्यादा हे तो आप विटामिन E के ओवरडोज़ के शिकार हो सकते हे। विटामिन E की अधिक मात्रा से सिर दर्द, थकान, डायरिया और पेट फूलना जैसी परेशानिया हो सकती हे।

3) पाचन क्रिया में परेशानी:

बेहतर पाचन क्रिया के लिए आपको रोज़ाना 25-38 ग्राम फाइबर की जरूरत होती हे। अगर आप अधिक फाइबर का सेवन करते हे तो आपको पाचन क्रिया सम्बंधित परेशानिया हो सकती हे।

4) मरीजों के लिए:

जिन लोगों को किडनी में पथरी या गॉलब्लेडर सम्बंधित कोई बीमारी हे उन्हें बादाम का सेवन नहीं करना चाहिए। बादाम में ओक्सिलेट अधिक होता हे जो ऐसे लोगो के लिए ठीक नहीं हे।

5) कड़वा बादाम:

आपको कड़वा बादाम कच्चा नहीं खाना चाहिए। क्योंकि इसमें प्यूसिक एसिड और हाइड्रोसायनिक अम्ल होता हे जो की हमारे शरीर के लिए जहर का काम करता हे।

Roj Kitne Badam Khana Chahiye – रोज कितने बादाम खाना चाहिए:-

एक दिन में ज्यादा से ज्यादा एक मुट्ठी या 23 से 24 बादाम खाया जा सकता है। लेकिन याद रहे कि यह बादाम खाने की मैक्सिमम लिमिट है। इसलिए जो लोग भी बादाम का रोजाना इस्तेमाल करना चाहते हैं उन्हें 4 से 5 बादाम से ही शुरू करना चाहिए। और कुछ दिन बाद उस की क्वांटिटी 9 से 10 बादाम तक बढ़ाई जा सकती हैं।

Badam Kisko Nahi Khana Chahiye – बादाम किसको नहीं खाना चाहिए:-

कई सारे लोगो को हाई ब्लड प्रेशर, पथरी, मोटापा और एसिडिटी की बीमारी से पीड़ित हे इन सभी लोगो को बादाम नहीं खाने चाहिए।

Bhige Badam Khane Ke Fayde – भीगे बादाम खाने के फायदे:-

भीगे हुए बादाम खाने से शरीर की खोई हुई शक्ति पा सकते हो, जो बच्चे अभी बोलना सिख रहे हे उनके लिए फायदेमंद हे, कमरदर्द के लिए, महिलाओ के गर्भावस्था में फायदेमंद, दांतो के लिए अच्छा हे, बालो के जड़ने को रोकता हे। तो ये हे भीगे हुए बादाम खाने के फायदे.

Sukhe Badam Khane Ke Fayde – सूखे बादाम खाने के फायदे:-

सूखे बादाम खाने से ये हमारी स्किन को बहुत लाभ होता है।

Raat Me Badam Khane Ke Fayde – रात में बादाम खाने के फायदे:-

रात को सोने से पहले बादाम खाने से ये दिमाग को तेज करता है, पाचन शक्ति, शरीर में ताकत को बढ़ता हे, स्किन और त्वचा में चमक लाता है और हृदय के लिए भी फायदेमंद है।

Bhuna Badam Khane Ke Fayde – भुने बादाम खाने के फायदे:-

अगर आप भुने हुए बादाम का सेवन करते हैं तो ये आपके शरीर में ऑक्सीज़न पहुंचाने वाला जो एंजाइम होता हे उसको स्वस्थ करता हे जिससे आपको सांसो की समस्या नहीं होती है। भुना हुआ बादाम खाने से पाचन तंत्र सही रहता हे। भुना हुआ बादाम खाने से ये आँखों की रौशनी को भी बढ़ाता है।

हम उम्मीद करते हैं की आपको badam khane ke fayde और नुकसान के बारे में बहुत ही आसानी से पता चल गया होगा।

और पढ़ें: 9 Best Gas Or Acidity Ke Gharelu Upay 

Categories: Health

About the Author

About the Author

Hello, I Am Parth Kanojiya. I Am A Founder And Author Of HindiAdviser. I Am A Blogger And I Share Internet Related Information For My Readers On This Blog.

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *