Email Address क्या होता है – What Is Email Address In Hindi?

Email Address क्या होता है – What Is Email Address In Hindi?

Email Address Kya Hota Hai – What Is Email Address In Hindi

एक Email Address आपके Email Account के लिए एक विशिष्ट पहचानकर्ता है। इसका उपयोग किसी को ईमेल भेजने और प्राप्त करने के लिए किया जाता है, और Email से कोई भी संदेश भेजने के लिए, भेजने वाले और प्राप्त करने वाले के पास एक अनोखा Email Address होना जरुरी है।

हर ईमेल एड्रेस में दो मुख्य चीज होती है Username और Domain Name. For Example:mail@hindiadviser.com

इसमें “Mail” Username है और hindiadviser.com Domain Name है।

Email Address कैसे काम करता है?

जब SMTP Protocol के माध्यम से Email भेजा जाता है तो भेजने वाला Mail Server इंटरनेट पर किसी अन्य Mail Server के लिए जांच करता है जो प्राप्तकर्ता के Address के Domain Name के साथ मेल खाता है।

उदाहरण के लिए, यदि कोई व्यक्ति किसी उपयोगकर्ता को hindiadviser.com पर Email भेजता है, तो Mail Server सबसे पहले सुनिश्चित करेगा कि hindiadviser.com पर कोई Mail Server प्रतिक्रिया दे रहा है। यदि दे रहा है, तो यह देखने के लिए Mail Server के साथ जाँच करेगा कि Username Valid हे या नहीं। यदि Username Valid है, तो Email Delivered हो जाएगा।

Email Address के बगल में एक नाम के साथ या बिना प्राप्तकर्ता को ईमेल भेजा जा सकता है। हालांकि, ऐसे भेजे गए Email के जिनमें एक नाम शामिल हो उसे Spam के रूप में फ़िल्टर किए जाने की संभावना कम है।

इसलिए, एक Email  बनाते  समय अपना पूरा नाम भरना एक अच्छा विचार है। ज्यादातर Mail Clients और Webmail Systems आपके भेजने वाले Email Address में Automatically आपका नाम शामिल कर देते है।

Email Address का मतलब – Email Address Meaning In Hindi

एक Device से दूसरे Device में इलेक्ट्रॉनिक संदेश भेजने की सेवा को ईमेल कहते है।

Email Address कोई भी यूजर का एक डिजिटल एड्रेस बॉक्स है जिस से हम यह सुनिश्चित कर पाते ही की हमें Email किस Email Address पर भेजना है।

उदाहरण के लिए: जैसे घर के एड्रेस के जरिए कोई चीज एक एड्रेस से दूसरे एड्रेस पर जाति है बिलकुल वैसे ही Email Address के जरिए संदेश एक Email Address से दुसरे Email Address पर भेजा जाता है।

Email Address के Parts

1. Subject Line – विषय

कोई भी ईमेल टाइप करते समय उसका विषय लिखना अनिवार्य है। जब आप कोई ईमेल का विषय स्पष्ट लिखते हे तो जिसको आपने ईमेल भेजा हे उसे स्पष्ट समझ आता है की ईमेल किस बारे में है।

2. Sender – भेजने वाला

Email भेजने वाले व्यक्ति का ईमेल पता (Email Address) यहां दिखाई देता है। ज्यादातर ईमेल सेवाएँ व्यक्ति के नाम को उनके Email Address से पहले प्रदर्शित करती हैं ताकि उन्हें पहचानना आसान हो सके। जब आप “Reply” दबाते हैं, तो आपका ईमेल केवल उसी व्यक्ति के पास जाएगा।

3. Recipient – प्राप्त करने वाला

यदि आप संदेश (Email) प्राप्त कर रहे हैं, तो संभव ही कि, आपका Email Address यहां दिखाई नहीं देगा।  इसके बजाय, आपको “to me” जैसे शब्द देखने को मिल सकते हैं।

Email प्राप्तकर्ता इन सेक्शंस में Email Address शामिल कर सकते है:

3.1. Carbon Copy (CC) – नकल

वे लोग जो अपनी जानकारी के लिए ईमेल प्राप्त करते हैं, लेकिन जिन्हें reply देने की उम्मीद नहीं है। जब आप “reply all” करते हैं, तो इन सभी पतों (Address) से आपकी प्रतिक्रिया प्राप्त होती है।

3.2. Blind Carbon Copy

वे लोग जो ईमेल प्राप्त करते हैं लेकिन प्राप्तकर्ता के रूप में listed नहीं हैं।  प्रेषक BCC अनुभाग का उपयोग करते हैं यदि वे प्राप्तकर्ता को यह जानना नहीं चाहते हैं कि ईमेल किसने प्राप्त किया है।  उन्हें “reply all” का रिस्पॉन्स नही मिलता है।

4. Salutation – अभिवादन

विषय के बाद अभिवादन भाग हे जिसे ईमेल प्राप्तकर्ता देखेंगे। यह उस tone से मेल खाना चाहिए जिसे आप अपने पूरे ईमेल में सेट करने का प्रयास कर रहे हैं। हो सके उतना ईमेल के इस भाग को Skip ना करें।

5. Email Body – संदेश

ईमेल बॉडी में ईमेल का संदेश होता है। Effective Emails में अक्सर ईमेल बॉडी यानी की संदेश छोटा होता है और Attachments यानी की ईमेल के साथ जोड़ी गई फाइल्स में  ज्यादा जानकारी दी जाती है।

जब आप कोई Employer या Teacher को ईमेल लिखते हे तो आप संदेश को छोटा रख कर अटैचमेंट्स में फाइल्स जोड़ कर पूरी जानकारी दे सकते है।

6. Closing – समापन

जब आप अपना संदेश लिख डाले तो उसके बाद आपके संदेश को समाप्त करने के लिए एक सही समापन भी अनिवार्य है।

आपके द्वारा चुना गया समापन पूरे ईमेल के टोन से मेल खाना चाहिए। औपचारिक समापन में “Sincerely” और “Thank you” लिखा जा सकता हैं, जबकि अधिक friendly संदेश में “Talk to you soon!” और “See you soon!” या “See you later!” का उपयोग कर सकते हैं।

7. Signature – हस्ताक्षर

Friendly letters में Sender’s के नाम के साथ हस्ताक्षर कर सकते हैं। लेकिन कई business email accounts में Signature section’s होते हैं जिनमें Sender’s Position, Company और यहां तक कि कंपनी का Logo भी शामिल होता है।

अन्य कंपनियों के Clients या Employees तक पहुँचने पर ये विस्तारित हस्ताक्षर सहायक होते हैं।

8. Attachments – ईमेल के साथ जोड़ी गई फाइल्स

Emails में हम कोई भी फाइल्स जैसे कि, PDF, Documents, Media आदि, जोड़ सकते है जिस से हम ज्यादा से ज्यादा जानकारी जिनको ईमेल भेजना है उन्हे दे सकते है।

ज्यादातर Emails Account’s में Attachment Limits होती है। आप उस लिमिट से ज्यादा बड़ी साइज की फाइल अटैच नहीं कर पाते।

Email Address महत्वपूर्ण क्यों है?

दोस्तों, हम आपको कुछ ऐसे मुद्दे बताने वाले है कि जिस से आपको यह समझ आ जाएगा कि, Email Address महत्वपूर्ण क्यों है?

1. Branding – पहचान

Email Address हमारे बिजनेस को एक पहचान देने में मदद करता है। हमारा ईमेल एड्रेस वो पहली चीज है जिसे हमारे कस्टमर्स देखते है। ईमेल एड्रेस हमारे कस्टमर्स को हमारे प्रोडक्ट्स, सर्विस और ब्रांड के साथ जोड़ने में सहायता करता है, इसलिए एक अच्छा Email Address होना जरूरी है।

2. Impression – प्रभाव

दोस्तों, बिजनेस में फर्स्ट इंप्रेशन मायने रखती है और ईमेल एड्रेस वो चीज ही जिसे कस्टमर्स सबसे पहले देखते है, इसलिए एक बेहतर और सही प्रोफेशनल ईमेल एड्रेस होना अनिवार्य है।

3. Professionalism – व्यावसायिकता

ईमेल एक्सटेंशन आपको एक Professional रूप में established दिखने में मदद करेगा और आपको अपने ईमेल पर ज्यादा रिस्पॉन्स प्राप्त होंगे। एक सादा और फ्री ईमेल एक्सटेंशन Unprofessional दिखता है और ऐसा लगता है कि आप अपनी कंपनी के बारे में गंभीर होने में समय नहीं लगा सकते।

4. Management – प्रबंध

एक Business Email के जरिए सभी को एक जगह पर Managed किया जा सकता है। इस से आपके आने वाले सारे Incoming Communication को संभालना सरल हो जाता है। एक प्लेटफार्म पर हम एक से ज्यादा Emails भी शामिल कर सकते है।

5. Trustworthiness – विश्वसनीयता

अगर आप अपने Business Name को अपने प्रोफेशनल ईमेल एड्रेस के साथ जोड़ते है तो इस से आपके कस्टमर्स ज्यादा आकर्षित हो सकते है और आपके ब्रांड पर उनका विश्वास बढ़ता है।

उदाहरण के लिए: एक ईमेल hindiadviser85r7@yahoo.com है और दूसरा Service@hindiadviser.com है। तो आप इन में से कोनसा ईमेल एड्रेस याद रखना पसंद करेंगे?, जाहिर सी बात है कि सभी को दूसरा वाला ही पसंद आयेगा और याद भी रहेगा। क्योंकि यह सरलता से याद हो जाता है।

इसलिए एक सरल और प्रोफेशनल ईमेल एड्रेस होना आपके बिजनेस को बढ़ा ने के लिए जरूरी है।

6. Spam Protection

आमतौर पर जब हम कोई Email Address Subscription खरीदते है तो वो Spam Filtering सेवा के साथ आता है। इस से आपको बिन जरूरी Spam Emails से प्रोटेक्शन मिलता है।

आमतौर पर एक ही स्पैम ईमेल  को आपको बार-बार ईमेल करने से रोकने के लिए प्लेटफ़ॉर्म में एक ब्लैक लिस्ट का विकल्प होता है।

7. Easy to Find – खोजने में आसानी

दोस्तों, अगर क्लाइंट आपके बिजनेस नाम को भूल जाते है और उनके पास आपका प्रोफेशनल ईमेल एड्रेस है तो वे सरलता से आपको contact कर सकते है।

Free Email Address कैसे बनाये?

1. Google account sign inपेज ओपन कर ले।

2. अब “Create account” पर क्लिक करें।

3. फिर “For myself” और “To manage my business” यह दो ऑप्शन में से कोई एक विकल्प चुने।

नोट: अगर आप अपने पर्सनल इस्तेमाल के लिए ईमेल बना रहे ही तो “For myself” वाला ऑप्शन चुने और अगर अपने बिजनेस के लिए बना रहे है तो “To manage my business” वाले ऑप्शन को चुने।

4. इसके बाद, अपना “First name” और “Last name” डालकर Next करें।

Free Email Address Kaise Banaye

5. अब अपनी “Birth details” डाले और Next करें।

6. फिर एक Strong “Password set” करें और Next करें।

Free Email Address Kaise Banaye

अब आपका Gmail Account Create हो चुका है।

अपना Email Address कैसे पता करें?

1. सबसे पहले अपने फ़ोन में “Settings” ऐप ओपन करें।

2. अब नीचे थोड़ा स्क्रॉल करें और “Google” ऑप्शन को चुनें।

3. इसके बाद “Manage your Google Account” पर क्लिक करें।

4. अब सबसे ऊपर दिए गए “Personal info” पर टैप करके “Contact info” सेक्शन के नीचे दिख रहे “Email” ऑप्शन पर क्लिक करें।

5. Email ऑप्शन में जाने के बाद, यहाँ आप अपना Google Account का Email Address देखेंगे।

Conclusion

दोस्तों, इस आर्टिकल में हमने आपको Email Address क्या होता है? यह जाना और इसके साथ ही Email Address कैसे काम करता है? और Email Address का मतलब भी जाना।

इसके बाद हमने Email Address के Parts और Email Address महत्वपूर्ण क्यों है? इसके बारे में भी जाना। और आखिर आर्टिकल को पूरा करते हुए हमने Free Email Address कैसे बनाए? और अपना Email Address कैसे पता करें इसके बारे में भी जानकारी दी।

दोस्तों, हम उम्मीद करते हे कि आपको इस आर्टिकल में से जरूर कुछ नया सीखने को मिला होगा। आर्टिकल को अपने दोस्तो के साथ शेयर सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करें।

यह भी पढ़ें:

Authored By Nikul Sagadhara

Hello, I Am Nikul Sagadhara. I Am A Co-Founder And Author Of HindiAdviser. I Am A Blogger And I Share Internet Related Information For My Readers On This Blog.

Leave a Reply