Gehri Neend Kaise Aaye

image source: canva

आज हम इस आर्टिकल में Gehri Neend Kaise Aaye के बारे में बात करने वाले है। जिस तरह से अच्छा भोजन करने से हमारे शरीर को ताकत और एनर्जी मिलती है। उसी तरह से एक अच्छी नींद खासकर हमारे दिमाग के लिए भोजन की तरह काम करके उसे एनर्जी प्रदान करती है। इनसोम्निया यानी कि रात को नींद ना आने की बीमारी वैसे तो सुनने में बहुत छोटी बात लगती है। लेकिन केवल ठीक से नींद ना आने की वजह से शरीर में कहीं दूसरी बीमारियां भी समय के साथ साथ जन्म लेने लगती है।

कुछ लोगों को कच्ची नींद आती है। यानी कि सो जाने के बाद भी रह रहे हैं कि उनकी आंखें खुलती रहती है और कुछ लोगों को बहुत देर से नींद लगती है। जिसमें कि बार-बार करवटें बदलने पर भी नींद नहीं आती है। इसके अलावा कई स्थितियों में लोगों को नींद तो आ जाती है लेकिन वापस बीच रात में ही आप इस समय से पहले ही खुल जाती है और उसके बाद दोबारा नहीं आती। ऐसे में भी नींद रोजाना अधूरी ही रह जाती है। अधूरी नींद की वजह से हमारे शरीर और दिमाग के साथ-साथ त्वचा पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है।

आंखों में सूजन और आंखों के आसपास काले घेरे बनना, बालों का झड़ना और त्वचा का रंग काला बढ़ते जाना, काम उत्तेजना और सेक्सुअल हार्मोस में कमी होना, शरीर में ब्लड प्रेशर और वजन का तेजी से बढ़ना, स्वभाव में आलस और चिड़चिड़ापन होने के साथ-साथ याददाश्त कमजोर होने और कंसंट्रेशन पावर याने की ठीक से ध्यान न लगाने की समस्या केवल अच्छी तरह से नींद न लेने की वजह से होती है और साथ ही इसका हमारे मेटाबॉलिज्म और इम्यून सिस्टम पर भी बहुत बुरा असर पड़ता है। जिसकी वजह से हमारे शरीर की बीमारियों से लड़ने की क्षमता भी कमजोर पड़ने लगती है।

वैसे तो नींद ना आने के कई तरह के कारण हो सकते हैं। लेकिन स्ट्रेस खाने-पीने और सोने के टाइम टेबल में गड़बड़ी तथा ज्यादा चाय या कॉफी का सेवन करना रात के समय नींद ना आने के कारण होते हैं। साथी जो लोग दिन के समय सोते हैं यह सोने से पहले मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं उन्हें भी रात के समय आसानी से नींद नहीं आती है। आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे कुछ बहुत ही आसान और असरदार जिनके रोजाना इस्तेमाल से राहत के समय नींद ना आने की समस्या हमेशा के लिए खत्म हो जाएगी और कम समय में ही आप रोजाना एक अच्छी और गहरी नींद का आनंद उठा पाएंगे।

Table of Contents

Nind Na Aane Ke Karan – नींद न आने के कारण

  • डिप्रेशन के कारण नींद न आना।
  • शराब या स्मोकिंग की लत के कारण नींद न आना।
  • तनाव के कारण नींद न आना।
  • ज्यादा चाय और कॉफी पिने के कारण नींद न आना।
  • रात को Electronics Devices ज्यादा इस्तेमाल करने के कारण नींद न आना

Gehri Neend Kaise Aaye – Nind Aane Ke Tarike | गहरी नींद कैसे आये – नींद आने के तरीके

1) शांत और ठंडे वातावरण में सोना

हमेशा आपको शांत वातावरण में सोना चाहिए। जहा कोई आवाज ना हो, किसी प्रकार की कोई गड़बड़ ना हो उस वातावरण में आपको सोना चाहिए। वातावरण थोड़ा ठंडा होना चाहिए। मतलब ठंडा भी नहीं और बहुत गर्म भी नहीं। और इसीके साथ आपके रूम में हल्का सा लाइट भी होना चाहिए।

2) शाम को थोड़ा मनोरंजन करना

दिन के तनाव को कम करने के लिए शाम को टीवी के कोई कार्यक्रम देखना, म्यूजिक सुनना और गर्म पानी से स्नान करना चाहिए। ऐसा सब करना जरूरी है ताकि दिनभर का जो टेंशन और तनाव होगा उसमे से थोड़ा आप फ्रेश हो जायेंगे।

3) शाम के समय चाय या कॉफी न पिएं

अगर आप शाम के समय चाय पीते हैं तो नींद ना आने की समस्या में शाम के समय इसका सेवन करना बंद कर दें। और खासकर अगर आपको इनसोम्निया की बीमारी काफी समय से है। तो चाय कॉफी जैसी चीजों का सेवन करना पूरी तरह से ही बंद कर दें।

इसके अलावा यह भी ध्यान रखें कि सोने से पहले ऐसी किसी भी एक्टिविटी में शामिल ना हो। जिससे कि सोते समय उसका ख्याल दिमाग में ही चलता रहे। जैसे कि किसी भी तरह का टीवी प्रोग्राम, मूवी या काम से संबंधित बातें। जो कि देर तक दिमाग में ही घूमती रहे हमेशा कोशिश करें कि सोने से पहले दिमाग को शांत करने वाला म्यूजिक सुने या अगर समय हो तो किताबें पढ़ें।

4) बेड को सोने के लिए इस्तेमाल करें

आपको हमेशा अपने बेड को सोने के लिए ही इस्तेमाल करना चाहिए। कोई ऑफिस का काम, स्कूल का काम, डिनर या ब्रेकफास्ट इसमें ना करे। क्युकी जब भी आप किसी चीज़ को देखते है तो उस चीज़ के रेलेटेड आपके दिमाग में इमोशन एक्टिवटे हो जाता है।

उदाहरण: अगर आप फाइल अपने बीएड में देखते हे तो उस फाइल के रेलेटेड आपको अपने काम यद् आ जायेंगे। और आपका दिमाग रिलेक्स करने के वजाय एक्टिवटे हो जायेगा। इससे आपको कम नींद आएगी। इसलिए आपको हमेशा अपने बेड को सोने के लिए ही इस्तेमाल करना चाहिए।

5) नियमित व्यायाम करें

व्यायाम करना हमारे शरीर और दिमाग के लिए बहुत ही अच्छा है। इसलिए हररोज 40 से 45 मिनट व्यायाम करने से नींद अच्छी आती है।

6) सोने से पहले गर्म दूध पीना

यदि आप सोने से पहले हल्का गर्म दूध पीते है तो इससे अच्छी नींद आने में बहुत ही फायदा मिलता है।

7) दिन में सोना नहीं है

आपको कभी भी दिन में नहीं सोना चाहिए। ना तो किसी भी जगह पे लेटना है सिर्फ पुरे दिन बैठे रहना है।

8) नौकरी या व्यापार के तनाव को घर के बाहर रखना

आपको नौकरी या व्यापार के तनाव को घर पर नहीं करना चाहिए। मतलब नौकरी का तनाव घर पर नहीं करना चाहिए और घर का तनाव नौकरी पर नहीं करना चाइये। तनाव लेने से नींद आने में दिक्क्त हो सकती है।

9) नींद आने के समय ही बेड पर जाना

आपको हमेशा नींद आने के वक्त ही बेड पर जाना चाहिए। आपको ऐसा लग रहा हे की अब नींद आ रही है तभी ही आपको अपने बेड पर सोने जाना है।

10) 10 से 20 मिनट के अंदर अगर नींद नहीं आ रही है तो बेड से तुरंत उठ जाना

बेड पे सोने के बाद 10 से 20 मिनट के अंदर अगर नींद नहीं आ रही है तो बेड से तुरंत उठ जाना है और कमरे से बाहर जा कर टहलना या कुछ पढ़ना है और जब नींद आने जैसा लगे तभी ही बेड पे जाना है।

11) उठने का और सोने का समय तय करना

आपको हमेशा उठने का और सोने का समय तय कर लेना चाइये। इससे आपके दिमाग में एक रिधम सेट हो जाता है और आपके दिमाग को मालूम होता है की कब सोना है और कम जागना है तो ऐसा करने से जल्दी नींद आ जाएगी।

12) दिनभर मोबाइल या कंप्यूटर का ज्यादा इस्तेमाल न करे

कई बार जो लोग दिनभर ज्यादा मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं या ज्यादा टीवी और कंप्यूटर के सामने बैठे रहते हैं उन्हें भी रात के समय नींद आने में कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। क्योंकि ज्यादा समय तक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के सामने बैठने पर इसका हमारे दिमाग पर बुरा असर पड़ता है और रात के समय हमारे दिमाग को शांत होने में काफी समय लगता है।

ऐसे में रोजाना रात को सोने से पहले अपनी दोनों आंखों को अच्छी तरह से धोएं और सोते समय अपनी दोनों आंखों पर गुलाब जल में भिगोए हुए कॉटन को 10 मिनट के लिए रखे है। ऐसे मै ऐसा करने से यह हमारी आंखों और दिमाग की नसों को ठंडक पहुंचा कर उसे शांत करता है और जल्दी नींद लाने में इससे काफी फायदा मिलता है।

13) रात के समय नहाना

कहा जाता है कि अच्छी नींद के लिए रात के समय नहाना भी बहुत लाभकारी होता है। लेकिन हर मौसम में रोजाना रात को नहाना हर व्यक्ति के लिए संभव नहीं हो पाता है। इसलिए नहाने की जगह केवल अपने दोनों पैरों को 10 से 15 मिनट हल्के गर्म पानी में भिगोकर रखें। ऐसा करने से भी हमारे शरीर और दिमाग की नसें शांत होती है और बिस्तर पर लेटते ही आसानी से नींद आ जाती है।

14) सोते समय अपने रूम की सारी लाइटें बंद रखें

इसके अलावा सोते समय अपने रूम की सारी लाइटें बंद रखें या फिर हल्की लाल लाइट का ही इस्तेमाल करें।

इन सारे घरेलू नुस्खों के साथ-साथ कुछ आवश्यक सावधानियां बरतना भी बहुत जरूरी है। नहीं तो किए हुए सारे नुस्खे केवल कुछ गलतियों की वजह से पूरी तरह बेअसर हो सकते हैं।

15) सोने से पहले इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस का इस्तेमाल न करे

सोने से कम से कम 30 से 45 मिनट पहले किसी भी तरह के इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस जैसे कि टीवी मोबाइल या लैपटॉप आदि का इस्तेमाल बिल्कुल न करें। क्योंकि इनसे निकलने वाली इलेक्ट्रोमैग्नेटिक ने हमारे दिमाग को देर तक जागने पर मजबूर करती है. जिससे कि नींद आने में बहुत अधिक टाइम लगता है।

16) यह सोचना बंद करे की आज भी नींद नहीं आएगी

अक्सर यह देखा गया है कि जिन लोगों को लगातार नींद ना आने की प्रॉब्लम होती है। वह हमेशा सोने से पहले यही सोचते हैं कि आज भी नींद नहीं आएगी। कई बार फिर ऐसी सोच भी रात भर करवटें बदलने का कारण बन सकती है। इसलिए सोने से पहले हमेशा अपने मन को शांत रखकर केवल सोने के बारे में ही सोचे और यही सोचे कि आज आराम से चैन की नींद आएगी।

17) रात को मसालेदार खाना न खाये

अगर आप रात को ज्यादा मसालेदार या हैवी डिनर करते हैं। तो ऐसे में भी हमारे शरीर में हलचल बनी रहती है और हमारा दिमाग सोने के लिए तैयार नहीं हो पाता है। इसलिए कोशिश करें कि रात के समय हल्का और घर का बना हुआ भोजन ही करें और सोने से पहले पानी पीना भी बिल्कुल ना भूलें।

Nind Aane Ke Gharelu Nuskhe – नींद आने के घरेलु नुस्खे

1) कद्दू के बीज, खजूर, खसखस और बादाम

इसे बनाने के लिए हमें जरूरत होगी कद्दू के बीज, सूखे खजूर, खसखस और बदाम की। अच्छी और गहरी नींद के लिए शरीर में ट्रीप्टोफन नामक अमीनो एसिड बहुत जरूरी होता है। जोकि कद्दू के बीज में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। यह हमारे माइंड को रिलेक्स करता है जिससे कि हमें जल्दी नींद आने लगती है।

इसके अलावा कद्दू के बीजों में जिंक की मात्रा भी अधिक होती है और ऐसी सभी चीज़ें जिसमें ट्रीप्टोफन और जिंक दोनों ही अधिक मात्रा में होते हैं। वह हमारे शरीर में दिमाग को शांत करने वाले सेरोटोनिन हारमोंस को बढ़ाते हैं और इनका सेवन करने के बाद हर बार सोते समय हमें गहरी नींद ही आती है।

इन सारी चीजों को हमें बारीक पीसकर इनका एक पाउडर तैयार करना है इसके लिए सबसे पहले 100-150 ग्राम सूखे हुए खजूर के बारिक टुकड़े कर ले। उसके बाद इसे अच्छी तरह ग्राइंड करके इनका बारीक पाउडर बना लें और इसी तरह कद्दू के बीज बादाम और खसखस को भी मिक्सर में अच्छी तरह चला कर उनका भी पाउडर बना लें।

फिर 100 ग्राम कद्दू के बीज के पाउडर में 100 ग्राम बादाम का पाउडर और 100-150 ग्राम सूखे हुए खजूर का पाउडर मिलाएं। उसके बाद इसमें 50 ग्राम खसखस मिलाकर सारी चीजों को अच्छी तरह से मिक्स कर लें. इस तरह ये नुस्खा तैयार हो जाएगा। इसमें हमने पॉपी सीड जाने की खसखस का इस्तेमाल किया है खसखस हमारे पेट, त्वचा और दिमाग के लिए बहुत अधिक फायदेमंद होता है।

इसके अंदर जिंक, मैगनीज और मैग्नीशियम प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। रोजाना शाम को सोने से पहले इसका इस्तेमाल करने से हमारा दिमाग शांत होता है। जिससे कि बिस्तर पर लेटने के बाद हमें जल्दी नींद आ जाती है।

इसके अलावा खजूर के अंदर ट्रीप्टोफन की मात्रा बहुत अधिक होती है और साथ ही इसकी एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज हमारे दिमाग को अच्छी तरह ऑक्सीजन पहुंचाने में मदद करती है। सारी चीजों से मिलकर बने इस चूर्ण का सेवन रोजाना रात को सोने से एक से डेढ़ घंटे पहले ही करे।

इसके लिए एक कप हल्के गर्म दूध के साथ एक चम्मच चूर्ण को मिलाकर इसका सेवन किया जा सकता है। एक अच्छी और गहरी नींद के लिए हमारे शरीर को जितने भी तरह के पोषक तत्वों की जरूरत होती है। वह सब की पोषक तत्व इस तैयार चूर्ण में भरपूर मात्रा में मौजूद है।

इसका सेवन करने के बाद नींद ना आने और रात को बीच-बीच में नींद खुलने की समस्या पूरी तरह ठीक हो जाती है और लगातार इसका सेवन करने से इनसोम्निया और स्लीपडिसऑर्डर जैसी बीमारी में भी काफी तेजी से सुधार आता है।

2) केले और केले के छिलके

इसके अलावा एक और नुस्खा है जो कि सोने के लिए स्लीपिंग पिल्स यानि की नींद की गोली की तरह काम करता है। वह है केले और केले के छिलके। बिस्तर पर लेटते ही अच्छी नींद के लिए हमारी बॉडी में मैग्नीशियम, पोटेशियम और जिंक की मात्रा अधिक होनी चाहिए।

जो लोग बिस्तर पर रात भर करवटें बदलते रहते हैं उनके शरीर में अक्सर इन पोषक तत्वों की कमी पाई जाती है और इन सभी पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए केले से बनी हुई चाहे सबसे बेहतर होती है।

केले की चाय बनाने के लिए सबसे पहले एक केले को धोकर उसे अच्छी तरह से साफ कर ले और उसके ऊपर और नीचे के हिस्से को काटकर अलग कर दें। उसके बाद केले को दो से तीन हिस्सों में काट लें और इसे 3 कप पानी में डालकर 5 मिनट के लिए मध्यम आंच पर बॉईल करे।

5 मिनट तक बॉईल करने के बाद इसमें आधा चम्मच दालचीनी पाउडर या एक दालचीनी की स्टिक डालकर इसे 2 से 3 मिनट के लिए और उबालें। उसके बाद गैस को बंद करके इसे ढक कर ठंडा होने के लिए छोड़ दें।

जब यह हल्का गर्म रह जाए तब इसका सेवन करें। केले से बनी इस चाय का सेवन रात को सोने से पहले करने से यह हमारे शरीर की मांसपेशियों और दिमाग को रिलेक्स करता है और साथ ही इसमें पाए जाने वाले ट्रीप्टोफन की मदद से से बॉडी में सेरोटोनिन और मेलाटोनिन हार्मोन में बढ़ोतरी होती है।

यह दोनों ही हारमोंस हमारे दिमाग को शांत करने वाले हारमोंस होते हैं। जिन लोगों को देर से लगती है या फिर रात में बीच-बीच में नींद खुलती रहती है. उन्हें इस चाय का जरूर सेवन करना चाहिए। रोजाना इसका इस्तेमाल करने से शरीर में आवश्यक पोषक तत्वों की कमी पूरी होती है और साथ ही नींद ना आने की समस्या भी धीरे-धीरे खत्म होती जाती है।

3) ब्राह्मी, अश्वगंधा और शंखपुष्पी

घरेलू नुस्खों के अलावा कुछ ऐसी आयुर्वेदिक चीजें भी है जो कि दिमाग और नींद के लिए बहुत अधिक फायदेमंद होती है। जिसमें की ब्राह्मी, अश्वगंधा और शंखपुष्पी सबसे मुख्य है। आयुर्वेद में ब्राह्मी का इस्तेमाल पुराने समय से ब्रेन टॉनिक की तरह किया जाता है आ रहा है।

नींद दिमाग और आंखों से जुड़ी हुई हर तरह की बीमारी में इसका सेवन करने से कमाल के फायदे मिलते हैं। कई बार रात को ठीक से नींद ना आने की वजह से दिन के समय हमारे सर में दर्द होने लगता है। ऐसे में सुबह शाम ब्राह्मी और अश्वगंधा के चूर्ण का सेवन करने से इस समस्या से हमेशा के लिए निजात पाया जा सकता है।

आधा चम्मच ब्राह्मी और आधा चम्मच अश्वगंधा के चूर्ण को 2 कप पानी में डालकर पूरी आंच पर तब तक बॉईल करें जब तक यह पानी घटकर 1 कप ना रह जाए। उसके बाद केस को बंद करके थोड़ा ठंडा हो जाने पर इसका सेवन करें।

दिन के समय इसे पीने से हमारा दिमाग हल्का होता है और दिन भर शरीर में एक अच्छी एनर्जी बनी रहती है। जिससे कि रात में भी जल्दी और आसानी से नींद आ जाती है। ब्राह्मी का चूर्ण आपको किसी भी आयुर्वेदिक स्टोर पर कम दामों में आसानी से मिल जाएगा।

4) पैरों के तलवे पर तिल या नारियल के तेल से मालिश करना

इसके अलावा अगर आप एक लंबे समय से नींद ना आने की समस्या से परेशान है तो ऐसे में इस प्रॉब्लम को तेजी से खत्म करने के लिए रोजाना सोने से पहले अपने पैरों के तलवों पर तिल या नारियल के तेल से मालिश करे।

हमारे पैरों के तलवों की नसें हमारे शरीर के कई मैन ऑर्गन से कनेक्टेड होती है। इसलिए तीन की मालिश करने से इसका हमारे पूरे शरीर पर असर होता है। सोने से पहले पैरों की तिल के तेल से मालिश करने से यह हमारी कमर पीठ कंधे और दिमाग की नसों को शांत करता है और साथ ही हमारी पाचन क्रिया को भी बेहतर बनाता है। जिससे कि हम बहुत आसानी से एक गहरी और अच्छी नींद का अनुभव कर पाते हैं।

तो ये सभी नींद आने के तरीके और नींद आने के घरेलु नुस्खों की मदद से आप अच्छी गहरी नींद पा सकते है। तो हम उम्मीद करते है की आपको अच्छी Gehri Neend Kaise Aaye के बारे में आसानी से पता चल गया होगा। तो प्लीस हमारे इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे।

और पढ़ें: Vegetarian Diet Plan For Weight Gain in Hindi

Categories: Health

About the Author

About the Author

Hello, I Am Parth Kanojiya. I Am A Founder And Author Of HindiAdviser. I Am A Blogger And I Share Internet Related Information For My Readers On This Blog.

1 Comment

Avatar

Dharmik · June 16, 2020 at 10:20 am

Nice Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *