Incognito Mode क्या है – What Is Incognito Mode In Hindi?

दोस्तों, स्मार्टफोन्स हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है और इसका आप कैसे इस्तेमाल करते है, इसमें आप क्या क्या देखते है, सर्च करते है वे सभी का असर आपके जीवन में होता है।

आप अपने फोन में इंटरनेट पर जो भी सर्च करते है उन सब का डाटा आपके फोन में संग्रहित होता है और अगर इसकी सही से सावधानी न रखी जाए तो वे आपके लिए मुश्किलें खड़ी कर सकते है, ऐसे में Incognito Mode आपके लिए सुरक्षित साबित हो सकता है।

Incognito Mode Kya Hai - What Is Incognito Mode In Hindi

दोस्तों, आपने Chrome Browser में या फिर दूसरे ब्राउजर्स में Incognito Mode जरूर देखा होगा और शायद आपने इसका इस्तेमाल भी किया होगा लेकिन क्या आपको पता है की Incognito Mode क्या है, Incognito Mode कैसे काम करता है और Incognito Meaning In Hindi।

अगर आप Incognito Mode के बारे में पूरे विस्तार में जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़े।

Incognito Meaning In Hindi – Incognito का मतलब क्या है?

Incognito का मतलब हिंदी में समझे तो कुछ ऐसा होता है कि, आप कुछ ऐसा कार्य कर रहे है जिसके बारे में किसी को कुछ पता ना चले।

या फिर दूसरे शब्दो में, अपना असली नाम और पहचान छिपा कर कोई कार्य करना, जिसे Incognito कहा जा सकता है।

उदाहरण के लिए, सेलिब्रिटीज अक्सर अपनी प्राइवेसी के लिए गुप्त तरीके से बाहर ट्रावेल करने की कोशिश करते है।

Incognito Mode क्या है – What Is Incognito Mode In Hindi?

Incognito Mode एक प्राइवेट ब्राउज़िंग फीचर है जो कई सारे वेब ब्राउज़र में देखने को मिल जाता है। यह आपका कोई भी डाटा संग्रहित किऐ बिना, अपनी वास्तविक पहचान छूपाकर सुरक्षित सर्चिंग करने की अनुमति देता है।

जब आप कोई ब्राउजर में रेगुलर Tab का इस्तेमाल करके सर्चिंग करते है तो जो साइट्स आप विजिट करते है उस सब का डाटा आपका ब्राउज़र स्टोर करता है जैसे ब्राउजिंग हिस्ट्री। इसका यह फायदा है की आप आसानी से ब्राउजिंग हिस्ट्री के जरिए जो भी साइट्स आपने विजिट की है उसे खोल सकते है।

इसके अलावा ब्राउजर Cookies भी संग्रहित करता है। Cookies छोटी Text files होती है जो साइट्स की लॉगिन डिटेल्स save करती है, आपके द्वारा विजिट की हुई सारी साइट्स के बारे में जानकारी कलेक्ट करती है जिसके जरिए आपको ads दिखाई। जाती है।

लेकिन जब आप अपने ब्राउजर में Incognito Mode Tab का इस्तेमाल करके कुछ भी सर्चिंग करते है तो कोई भी प्रकार की Cookies जो साइट्स आपके डिवाइस में अपलोड करने की कोशिश करती है वे Blocked और Delete हो जाती है और आपने जो भी साइट्स विजिट की है उसका किसी प्रकार का रिकॉर्ड ब्राउजर की लोकल सर्च हिस्ट्री में नहीं रहता है।

Incognito Mode कैसे काम करता है?

जब आप कोई ब्राउजर में प्राइवेट ब्राउजिंग के लिए Incognito Mode चालू करते है तो उसमें आप जो भी साइट्स खोलेंगे वे सभी की हिस्ट्री, पासवर्ड आदि, जानकारी ब्राउजर में सेव नहीं होती।

Incognito Mode बंद कर देने पर आपने जो भी सर्च किया होगा और जितने भी tabs आपने खोले होंगे वे सभी close हो जाएगी।

आपकी लोकेशन, IP एड्रेस, इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर, सर्च इंजन आदि जैसी जानकारी Incognito Mode चालू होने के बावजूद भी ट्रैक होती है।

प्राइवेट ब्राउजिंग फीचर कई ब्राउजर्स में उपलब्ध है और सभी में प्राइवेसी प्रोटेक्शन पॉलिसी अलग अलग देखने को मिल जाती है।

इन्कॉग्निटो मोड किसके लिए उपयोग किया जाता है?

दोस्तों, आपने Chrome Browser में Incognito Mode का ऑप्शन देखा और इसके अलावा दूसरे ब्राउजर्स में भी प्राइवेट ब्राउजिंग करने के लिए अलग अलग नाम से प्राइवेट ब्राउजिंग मोड्स देखने को मिल जाते है।

इस फीचर की मदद से आप अपने ब्राउजर में गुप्त और सुरक्षित तरीके से कोई भी चीज सर्च कर सकते है। कोई भी ब्राउज़र में जब आप नॉर्मल मोड़ में कोई भी साइट्स खोलते है तो वे सब जानकारी जैसे की आपकी ब्राउजिंग हिस्ट्री, पासवर्ड, लॉगिन डिटेल्स आदि, सेव होते है।

लेकिन जब आप प्राइवेट ब्राउजिंग चालू करके ब्राउजिंग करते है तो आपका डाटा जैसे की, पासवर्ड, ब्राउजिंग हिस्ट्री आदि, जैसी जानकारी ब्राउज़र में सेव नहीं होती।

प्राइवेट ब्राउजिंग बंद करने के बाद आपने जो भी प्राइवेट ब्राउजिंग में सर्चिंग किया है वो सारा डाटा डिलीट हो जाता है।

Incognito Mode Activate कैसे करें

Google Chrome

1. अपने स्मार्टफोन में Chrome Browser ओपन करें।

2. अब उपर राइट कॉर्नर पर दिए गए 3 Dots पर क्लिक करे।

3. इसके बाद अब New Incognito Mode पर क्लिक करे।

4. अब आप देख सकते है की आपका Incognito Mode चालू हो चुका है।

Firefox

1. अपने स्मार्टफोन में Firefox ब्राउजर ओपन करें।

2. अब Incognito Icon पर क्लिक करें।

3. अब आप देख सकते है की आपके Firefox ब्राउज़र में Incognito Mode चालु हो चुका है।

Opera Mini

1. सबसे पहले अपने स्मार्टफोन में Opera Mini ब्राउज़र ओपन करें।

2. अब Tab Icon पर क्लिक करें।

3. इसके बाद Private के ऑप्शन पर क्लिक करें।

4. अब + प्लस आइकन पर क्लिक करें।

5. अब आपका Incognito Mode चालु हो चुका है।

Microsoft Edge

1. अपने स्मार्टफोन में Microsoft Edge ब्राउज़र ओपन कर ले।

2. अब Tab के आइकन पर क्लिक करें।

3. इसके बाद InPrivate के ऑप्शन पर क्लिक करें।

4. अब + प्लस आइकन पर क्लिक करें।

5. अब आप अपने फोन ने प्राइवेट ब्राउजिंग का आनंद ले सकते है।

Safari (iPhone & iPad)

1. अपने iPhone में Safari ब्राउज़र ओपन करें।

2. अब Tab icon पर क्लिक करें।

3. इसके बाद Private के ऑप्शन पर क्लिक करें।

4. अब आप अपने iPhone में प्राइवेट ब्राउजिंग कर सकते है।

Incognito Mode के फायदे

1. आपकी Browsing History सेव नहीं होती।

2. Cookies और आपके द्वारा खोली गई साइट्स का डाटा स्टोर नहीं होता।

3. इंटरनेट पर आप जो भी forms में जानकारी भरते है वे सेव नहीं होती।

4. यह आपको एक साथ कई खातों में साइन इन करने में सक्षम बनाता है।

Incognito Mode के नुकसान

1. IP Address ट्रैक होता है।

2. यह साइबर अटैक, मैलवेयर और वायरस से कोई सुरक्षा प्रदान नहीं करता है।

3. गुप्त मोड में ब्राउज़ करते समय भी आप अपने डिवाइस पर संभावित रूप से मैलवेयर डाउनलोड कर सकते हैं।

क्या Incognito Mode को ट्रैक किया जा सकता है?

ऑनलाइन ट्रैकिंग का तात्पर्य वेबसाइटों पर Embed किए गए एनालिटिक्स और अन्य सॉफ़्टवेयर टूल के उपयोग के माध्यम से Web Visitors के बारे में जानकारी एकत्र करना है।

आपका डिजिटल फ़िंगरप्रिंट – आपका ऑपरेटिंग सिस्टम, ब्राउज़र, लोकेशन, समय क्षेत्र, भाषा और यहां तक कि डिवाइस स्पेसिफिकेशन – वेबसाइटों की पृष्ठभूमि में चल रही स्क्रिप्ट द्वारा एकत्र किया जाता है।

ये स्क्रिप्ट आपके द्वारा उपयोग की जाने वाली वेबसाइटों के रोजमर्रा के कामकाज के लिए जिम्मेदार स्क्रिप्ट से वस्तुतः अप्रभेद्य हैं।

एडवर्जाइजर्स आपके द्वारा खोली गई साइट्स का डाटा एकत्र करते है ताकि वे आपके इंटरेस्ट से जुड़ी ads आपको दिखा सके।

कई सारी वेबसाइट्स जो आप अपने ब्राउजर में खोलते है वे आपका डाटा स्टोर करती है, यदि इस डेटा का उल्लंघन किया जाता है, तो थर्ड पार्टी और डेटा ब्रोकर आपके व्यक्तिगत डेटा को एक्सेस, उपयोग या बेच भी सकते हैं।

इसके अलावा अगर आप थर्ड पार्टी कुकीज का ऑप्शन चालू करते है तो भी आपका डाटा कुछ हद तक ट्रैक हो सकते है।

क्या Incognito Mode सुरक्षित (Safe) है?

दोस्तों, कई यूजर्स अपने ब्राउजर्स में अपने डाटा की प्राइवेसी के लिए Incognito Mode का इस्तेमाल करते है। लेकिन दोस्तों क्या आप जानते है की Incognito Mode में भी आपका डाटा सुरक्षित नहीं है! प्राइवेट ब्राउजिंग में आपको केवल थोड़ी सी प्राइवेसी मिलती है।

Incognito Mode में ब्राउजिंग हिस्ट्री सेव नहीं होती और इसके अलावा आप थर्ड पार्टी कुकीज को भी ब्लॉक कर सकते है।

Incognito Mode में आपका IP address और जो भी आप सर्च करते है वे सभी जानकारी ट्रैक होती है। आपके इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर की जानकारी भी सेव की जाती है।

Incognito Mode की प्राइवेसी की बात करे तो, अगर आप Incognito Mode के बिना रेगुलर ब्राउजिंग करते है तो उसके मुकाबले Incognito Mode में आपको ज्यादा प्राइवेसी मिल जाती है इसलिए Incognito Mode इस्तेमाल करने में किसी प्रकार का नुकसान तो नहीं है।

Incognito Mode के लिए अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (FAQ)

1. Incognito Mode क्या है – What Is Incognito Mode In Hindi?

Incognito Mode एक प्राइवेट ब्राउज़िंग फीचर है जो कई सारे वेब ब्राउज़र में देखने को मिल जाता है। यह आपका कोई भी डाटा संग्रहित किऐ बिना, अपनी वास्तविक पहचान छूपाकर सुरक्षित सर्चिंग करने की अनुमति देता है।

2. Incognito Mode का आविष्कार किसने किया?

Incognito Mode यानी की प्राइवेट ब्राउजिंग का फीचर सबसे पहले 2005 में Apple के Safari वेब ब्राउजर में लॉन्च हुआ था।

3. Incognito Mode की हिस्ट्री कहाँ सेव होती है?

Incognito Mode की हिस्ट्री आमतौर पर ब्राउजर में सेव नहीं होती।

Conclusion

हमने आपको इस आर्टिकल में Incognito Mode के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। आपने इस आर्टिकल में जाना कि Incognito Meaning In Hindi, Incognito Mode क्या है – What Is Incognito Mode In Hindi,

साथ ही साथ यह भी जाना कि Incognito Mode Activate कैसे करें, Incognito Mode के फायदे और Incognito Mode के नुकसान। तो हम उम्मीद करते है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा, इसे अपने दोस्तों और सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें।

धन्यवाद।

यह भी पढ़ें:

Authored By Nikul Sagadhara

Hello, I Am Nikul Sagadhara. I Am A Co-Founder And Author Of HindiAdviser. I Am A Blogger And I Share Internet Related Information For My Readers On This Blog.

Leave a Reply