Entrepreneur Meaning in Hindi | Entrepreneur क्या होता है और Entrepreneur कैसे बने?

दोस्तों, आपने Entrepreneur शब्द कहीं न कहीं जरूर सुना होगा। लेकिन हम में से बहुत से लोग होंगे जिन्हें Entrepreneur क्या होता है – What Is Entrepreneur In Hindi? इसकी जानकारी नहीं होगी।

what is entrepreneur meaning in hindi - Entrepreneur Kya Hota Hai

आपने कई लोगों के सोशल प्रोफाइल पर Entrepreneur लिखा हुआ देखा होगा। लेकिन क्या आप जानते है इस Entrepreneur का मतलब क्या होता है – Entrepreneur Meaning in Hindi?

तो इस आर्टिकल में, हमने आपको Entrepreneur के बारे में अधिक से अधिक जानकारी देने की कोशिश की है। इस लेख को पूरी तरह से पढ़ने के बाद, आपके दिमाग में Entrepreneur से संबंधित सभी सवाल दूर हो जाएंगे।

विषय - सूची

Entrepreneur क्या होता है – What Is Entrepreneur In Hindi?

एक ऐसा व्यक्ति जो पैसों का जोखिम उठा कर अपने आविष्कार और विचारों से खुदका व्यापार चालू करके पैसे कमाए उसे Entrepreneur कहा जाता है। Entrepreneur को आमतौर पर एक innovator, नए विचारों, वस्तुओं, सेवाओं और व्यापार / या प्रक्रियाओं के स्रोत के रूप में देखा जाता है।

Entrepreneur किसी भी अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण जरूरतों को पूरा करने के लिए आवश्यक Skills का उपयोग करके New Ideas को मार्केट में लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। Entrepreneur की परिभाषा अलग अलग व्यक्ति के लिए अलग अलग हो सकती है।

Entrepreneur Meaning In Hindi – Entrepreneur का मतलब क्या है?

Entrepreneur को एक ऐसे इंसान के रूप में परिभाषित किया गया है, जो अपने खुदके विचारों से एक नया बिजनेस स्थापित करके नाणाकिय जोखिम उठा के प्रॉफिट कमाने की क्षमता रखता है।

“Entrepreneur” शब्द एक French verb “Entreprendre” पर से आया है, जिसका मतलब हिंदी में “आरंभ करना” होता है।

Entrepreneur को एक छोटे और घरेलू व्यवसाय से लेकर मल्टीनेशनल कंपनियों में क्लासीफाइड किया जा सकता है।

अर्थशास्त्र की माने तो एक Entrepreneur जो लाभ कमाता है, वे प्राकृतिक संसाधनों, भूमि, पूंजी और श्रम के संयोजन से होता है।

जिस किसी के पास एक नई कंपनी शुरू करने की इच्छाशक्ति और दृढ़ संकल्प है और इसके साथ आने वाले सभी जोखिमों से निपटने की काबिलियत ही उसे Entrepreneur कहा जाता है।

Entrepreneurship क्या है – What Is Entrepreneurship In Hindi?

Entrepreneurship मूल्य का सर्जन और निष्कर्षण है। इस परिभाषा के साथ, Entrepreneurship को परिवर्तन के रूप में देखा जाता है, जो आमतौर पर एक बिजनेस शुरू करते दौरान आने वाले Financial risks से परे होता है।

Entrepreneurship को एक नए व्यवसाय डिजाइन, लॉन्च और चलाने की प्रक्रिया के रूप में देखा जा सकता है। जो शुरू में एक छोटा व्यवसाय होता है, और भविष्य में नाणाकिय जोखिम ले कर प्रॉफिट earn करता है।

Entrepreneurship कैसे काम करती है?

Entrepreneurship उन संसाधनों में से एक है जो अर्थशास्त्री उत्पादन के अभिन्न अंग के रूप में वर्गीकृत करते हैं, अन्य तीन भूमि / प्राकृतिक संसाधन, श्रम और पूंजी हैं। एक Entrepreneur माल बनाने या सेवाएं प्रदान करने के लिए इनमें से पहले तीन को जोड़ता है। वे आम तौर पर एक Business Plan बनाते हैं, Labors (श्रमिक) को किराए पर लेते हैं, संसाधनों और वित्तपोषण का अधिग्रहण करते हैं, और व्यवसाय के लिए Leadership और Management प्रदान करते हैं।

Entrepreneurs आमतौर पर अपनी कंपनीज को बनाते समय बहुत सी बाधाओं का सामना करते है। उनमें से कई जो सबसे चुनौतीपूर्ण है, उनमें से कुछ तीन इस प्रकार है:

  1. टैलेंट हायर करना।
  2. अधिकारी तंत्र पर काबू पाना।
  3. वितपोषण प्राप्त करना।

Entrepreneurship क्यों महत्वपूर्ण है?

दोस्तों हम आपको कुछ ऐसे पॉइंट्स के बारे में जानकारी देंगे जिसके बाद आपको यह समझ आ जाएगा की Entrepreneurship क्यों महत्वपूर्ण है?, तो चलिए जानते है।

1. नई खोजों का केंद्र है।

Entrepreneurship नई खोज का एक केंद्र है, जो नए उत्पादन उद्यम, मार्केट, टेक्नोलॉजी और मल की गुणवत्ता आदि प्रदान करता है और इसके साथ ही लोगो के जीवन स्तर को बेहतर करने में मदद करता है।

2. रोजगार प्रदान करता है।

Entrepreneurship लोगों के लिए नए रोजगार का सर्जन करता है। यह ऐसे लोगों को नौकरी करने का मौका प्रदान करता है जिनके पास कोई प्रकार का अनुभव नहीं ही ताकि वे नौकरी करके अनुमभव प्राप्त कर सके।

3. जीवन स्तर में वृद्धि लाता है।

Entrepreneurship से इनकम बढ़ा कर व्यक्ति के जीवन स्तर को बेहतर करने में मदद मिलती है। जीवन स्तर में वृद्धि मतलब, आप किस रह से अच्छी से अच्छी सुख सुविधाओं से अपना जीवन जीते हो।

4. समाज और सामुदायिक विकास पर प्रभाव लाता है।

रोजगार ज्यादा होने की वजह से समाज भी धीरे धीरे बेहतर होता है। यह समाज में बदलाव लाता है और बेहतर स्वच्छता, शिक्षा पर ज्यादा खर्च, गरीब बस्तियों और गृहस्वामी जेसी सुविधाओं को बढ़ावा देता है। इसलिए एंटरप्रेन्योरशिप समाज और सामुदायिक विकास को उच्च स्तर पर ले जाती है।

5. अनुसंधान और विकास का समर्थन करता है।

नए प्रोडक्ट्स और सेवाओं को बाजार में लॉन्च करने से पहले शोध और परीक्षण करने की आवश्यकता होती है। इसलिए, एक Entrepreneur अनुसंधान संस्थानों और विश्वविद्यालयों के साथ अनुसंधान और विकास के लिए वित्त भी वितरित करता है। यह अर्थव्यवस्था में अनुसंधान, सामान्य निर्माण और विकास को बढ़ावा देता है।

Entrepreneur के प्रकार

दोस्तों सब Entrepreneur एक जैसे नहीं होते और सभी Entrepreneur का एक लक्ष्य नहीं होता। एंटरप्रेन्योर का लक्ष्य उसके प्रकार पर निर्भर करता है, तो चलिए Entrepreneur’s के प्रकार के बारे में जानते है।

1. Innovator – खोज कर्ता

Innovators एक ऐसे व्यक्ति है जो अपने नए प्रोडक्ट्स और विचारों के साथ आते जिसके बारे में पहले किसी ने ना सोचा हो।

थॉमस एडीसन, मार्क जुकरबर्ग और स्टीव जॉब्स इन सभी का नाम तो अपने सुना ही होगा। इन सभी ने वो किया जो वे करना पसंद करते थे और उस चीज को उन्होंने एक बड़े बिजनेस के रूप में पेश किया और आज के समय दुनिया के सबसे सफल व्यक्तियों में इनका नाम शामिल है।

ज्यादा पैसे कमाने के बजाए इनोवेटर्स यानी की खोज कर्ता इस पर ज्यादा focus करते है कि, वे जो प्रोडक्टस और सेवाओं को दुनिया के सामने पेश करने वाले ही उसका समाज पर क्या प्रभाव होगा।

2. Builder – निर्माता

बिल्डर्स कम समय सीमा के भीतर स्केलेबल व्यवसाय बनाना चाहते हैं। उदाहरण के लिए, बिल्डर्स आम तौर पर पहले दो से चार वर्षों में $ 5 मिलियन रेवेन्यू में गुजरते हैं और जब तक $ 100 मिलियन या उससे ज्यादा रेवेन्यू जेनरेट ना होने लगे तब तक निर्माण करना जारी रखते हैं।

ये व्यक्ति सर्वश्रेष्ठ प्रतिभा को काम पर रखने और सर्वश्रेष्ठ निवेशकों की तलाश करके एक मजबूत बुनियादी ढांचा तैयार करना चाहते हैं।

3. Specialist – विशेषज्ञ

ये व्यक्ति विश्लेषणात्मक और जोखिम से ग्रस्त होते है। उनके पास शिक्षा या शिक्षुता के माध्यम से प्राप्त विशिष्ट क्षेत्र में एक मजबूत कौशल है होता है।

एक Specialist entrepreneur नेटवर्किंग और रेफरल के माध्यम से अपने व्यवसाय का निर्माण करता है, जिसके परिणामस्वरूप एक Builder entrepreneur की तुलना में growth थोड़ी धीमी साबित होती है।

4. Opportunist – अवसरवादी

अवसरवादी Entrepreneur’s वित्तीय अवसरों को चुनने की क्षमता वाले आशावादी व्यक्ति होते हैं, जो विकास के समय बोर्ड पर बने रहते हैं और जब कोई व्यवसाय अपने चरम पर पहुंचता है तो बाहर निकल जाते है।

इस प्रकार के Entrepreneur’s मुनाफे और वे जो संपत्ति बनाएंगे उसके प्रति चिंतित होते है, इसलिए वे उन विचारों से आकर्षित होते हैं जहां वे अवशिष्ट या नवीकरणीय आय बना सकते हैं।

Entrepreneurship के प्रकार

दोस्तों जैसे हमने आपको उपर Entrepreneur’s के अलग अलग प्रकार बताए उसी प्रकार वे Entrepreneur’s जो बिजनेस खड़ा करेंगे जाहिर सी बात है वो भी अलग अलग होंगे, तो चलिए अब जानते है Entrepreneurship के प्रकार के बारे में।

1. Small Business Entrepreneurship

Small business Entrepreneur एक ऐसा बिजनेस खोलने का विचार है जिसे ज्यादा बड़ा ना बना ना हो। एक किराने की दुकान, छोटा होटल और अपनी घर की बनाई चीज़े बेचने के लिए खोली हुई दुकान यह सब इसके उदाहरण है।

यह ऐसे व्यक्ति होते ही जो अपने खुदके पैसे अपने बिजनेस में लगाते है और पैसे कमाते है। इसमें किसी प्रकार के कोई इन्वेस्टर्स शामिल नहीं होते।

2. Social Entrepreneurship

Social entrepreneurship का लक्ष्य समाज और मानव जाति के लिए लाभ पैदा करना है।  वे अपने उत्पादों और सेवाओं के माध्यम से समुदायों या पर्यावरण की मदद करने पर ध्यान केंद्रित करते हैं।  वे मुनाफे से नहीं, बल्कि अपने आसपास की दुनिया की मदद करके चलते हैं।

3. Large Company Entrepreneurship

Large company Entrepreneurship तब होती है जब किसी कंपनी के पास जीवन चक्र की एक सीमित मात्रा होती है। इस प्रकार की उद्यमशीलता एक उन्नत पेशेवर के लिए है जो Innovation को बनाए रखना जानता है। वे अक्सर C-level के अधिकारियों की एक बड़ी टीम का हिस्सा होते हैं।

बड़ी कंपनियां अक्सर बाजार की मांग को ध्यान में रख कर उपभोक्ता वरीयताओं के आधार पर नई सेवाएं और प्रोडक्ट्स बनाती हैं। small business Entrepreneurship Large company Entrepreneurship में बदल सकती है जब कंपनी तेजी से बढ़ती है।

4. Scalable Startup Entrepreneurship

इस प्रकार की Entrepreneurship तब होती है जब Entrepreneur’s का मानना है कि उनकी कंपनी दुनिया को बदल सकती है। वे अक्सर उद्यम पूंजीपतियों से धन प्राप्त करते हैं और विशेष कर्मचारियों को प्रदान करते हैं।

स्केलेबल स्टार्टअप उन चीजों की तलाश करते हैं जो बाजार उपलब्ध ना हो और उनके लिए समाधान बनाते हैं। स्केलेबल स्टार्टअप के उदाहरण फेसबुक, इंस्टाग्राम और उबेर हैं।

5. Researcher Entrepreneurship

शोधकर्ता अपना खुद का व्यवसाय शुरू करते समय अपना समय लेते हैं। वे Products या Services की पेशकश करने से पहले जितना संभव हो उतना रिसर्च करते है। उनका मानना है कि सही तैयारी और जानकारी के साथ, उनके सफल होने की संभावना अधिक होती है।

एक शोधकर्ता यह सुनिश्चित करता है कि वे अपने व्यवसाय के हर पहलू को समझें और जो वे कर रहे हैं उसकी संक्षिप में समझ हो। वे अपने अंतर्ज्ञान के बजाय तथ्यों, डेटा और तर्क पर भरोसा करते हैं।  विस्तृत व्यावसायिक योजनाएँ उनके लिए महत्वपूर्ण हैं और उनके failure की संभावना कम से कम।

6. Innovative Entrepreneurship

Innovative Entrepreneurship वे लोग हैं जो लगातार नए विचारों और आविष्कारों के साथ आ रहे हैं। वे इन विचारों को लेते हैं और उन्हें व्यावसायिक उपक्रमों में बदल देते हैं। वे अक्सर लोगों के जीने के तरीके को बेहतर बनाने का लक्ष्य रखते हैं।

इनोवेटर्स लोगों को बहुत प्रेरित और भावुक करते हैं। वे अपने उत्पादों और सेवाओं को बाजार की अन्य चीजों से अलग करने के तरीकों की तलाश करते हैं। स्टीव जॉब्स और बिल गेट्स जैसे लोग Innovative Entrepreneurship के उदाहरण हैं।

7. Imitator Entrepreneurship

Imitator Entrepreneurship यानी कि जो दूसरों के व्यावसायिक विचारों को प्रेरणा के रूप में उपयोग करते हैं लेकिन उन्हें सुधारने के लिए काम करते हैं। वे कुछ उत्पादों और सेवाओं को बेहतर और अधिक लाभदायक बनाने के लिए कोशिश करते हैं।

एक नकल करनेवाला एक अन्वेषक और एक हसलर के बीच एक संयोजन है। वे नए विचारों के बारे में सोचने और कड़ी मेहनत करने के लिए तैयार होते है, जो लोग नकल करते हैं उनमें आत्मविश्वास और दृढ़ संकल्प बहुत होता है। वे अपना व्यवसाय बनाते समय दूसरों की गलतियों से सीख सकते हैं।

8. Hustler Entrepreneurship

जो लोग कड़ी मेहनत करने और निरंतर प्रयास करने के लिए तैयार हैं उन्हें हसलर उद्यमी माना जाता है। वे अक्सर छोटे काम शुरू करते हैं और पूंजी के बजाय कड़ी मेहनत के साथ एक बड़ा व्यवसाय विकसित करने की ओर बढ़ते हैं।

हसलर उद्यमी आसानी से हार नहीं मानते और जो चाहते हैं उसे पाने के लिए चुनौतियों का सामना करने को तैयार रहते हैं।

9. Buyer Entrepreneurship

एक खरीदार एक प्रकार का एंटरप्रेन्योर है जो अपने धन का उपयोग अपने व्यापारिक उपक्रमों को Grow करने के लिए करता है। इनकी ख़ासियत है कि वे अपने भाग्य का उपयोग उन व्यवसायों को खरीदने के लिए करें जो उन्हें लगता है कि वे इनमे सफल होंगे।

इस प्रकार के एंटरप्रेन्योर होनहार व्यवसायों की पहचान करते हैं और उन्हें प्राप्त करने के लिए कोशिश करते हैं। उनका लक्ष्य उन व्यवसायों को बढ़ाना है जो वे हासिल करते हैं और अपने मुनाफे का विस्तार करते हैं। इस तरह की Entrepreneurship कम जोखिम वाली है क्योंकि वे पहले से ही स्थापित कंपनियों को खरीद रहे हैं।

Entrepreneurship के फायदे

1. Flexible Schedule

जो लोग कोई कंपनी में जॉब करते है वे ज्यादातर 9-5 यानी की सुबह से शाम तक अपने काम में व्यस्त रहते है। एक Entrepreneur के रूप में आप इस 9-5 की cycle को तोड़ करके अपने अनुकूलता के हिसाब से एक बेहतर Schedule बना सकते है।

2. स्वराज्य

एक डिजिटल समाचार आउटलेट Quartz (क्वार्ट्ज) ने कई अध्ययनों पर सूचना दी है जिन्होंने स्वायत्तता और नौकरी की संतुष्टि के बीच लिंक का प्रदर्शन किया है। यह पता चला है कि जिन कर्मचारियों का अपने काम पर अधिक नियंत्रण है वे अधिक व्यस्त और कम भावनात्मक रूप से थक जाते हैं।

3. सफलता और विकास

कंपनी शुरू करने से आप अपने Skills में लगातार सुधार कर सकते हैं, मार्केटिंग से लेकर एक्सेल रिपोर्ट बनाने के सौदे तक बंद कर सकते हैं।  आपके व्यवसाय को सीखने और लागू करने के लिए हमेशा अधिक है, जो शालीनता को रोक सकता है और निरंतर पेशेवर विकास को प्रोत्साहित कर सकता है।

4. नई चीज सीखते है

एक Entrepreneur होने का यह एक बड़ा फायदा है की आप नई नई चीज सीखते है। और यह सीखी हुई चीज़े आपको न केवल आपके बिजनेस को बड़ा बना ने में काम आती है इसके अलावा आपके निजी जीवन के लिए भी काफी मदद रूप साबित होती है।

5. जीवन स्तर बेहतर होता है

एक सफल Entrepreneur बन ने के बाद वे वो सारी चीज़े अपने जीवन में शामिल करने की कोशिश करते है जिसे वे अपने जीवन स्तर को बेहतर और सरल बना सके।

6. नए बिजनेस और जॉब्स

लोगों के लिए व्यवसाय और नौकरी के अवसर पैदा करता है जब समान विचारधारा वाले Entrepreneur’s Physical, Human और Financial संसाधनों के समन्वय के लिए एक साथ हो जाते हैं और उन्हें प्रबंधकीय कौशल की ओर निर्देशित करते हैं तो व्यवसाय विकसित होते हैं।

Entrepreneurship एक व्यक्ति या innovator द्वारा संचालित व्यवसाय है, इसमें बहुत सारे फैक्टर्स और संसाधनों का उपयोग शामिल है जो संगठनों के निर्माण में परिणामों के माध्यम से उपलब्धि करते हैं। इसके अलावा, इन organizations को एक साथ काम करने वाले कई कुशल लोगों के साथ खरोंच से बनाया गया है।  इससे नौकरी के ढेरों अवसर पैदा होते हैं।

7. अर्थव्यवस्था का विकास

Entrepreneurship नए बाजारों को वस्तुओं, सेवाओं और प्रौद्योगिकी के रूप में विकसित करने में सक्षम बनाती है। यह wealth जेनरेट के मार्ग प्रशस्त करता है; ये उच्च आय राष्ट्रीय आय और कर राजस्व बढ़ाने में योगदान करते हैं। यह इनोवेशन और आत्मनिर्भरता को बढ़ावा दे कर रोजगार के अवसर पैदा करता है।

8. कहीं से भी Work कर सकते है।

Freelance work सबसे लोकप्रिय Entrepreneurship पथों में से एक बन गया है, और इसमें आप कहीं से भी काम कर सकते हैं। आपके पास इंटरनेट का उपयोग है, चाहे आपके घर कार्यालय से या कैरिबियन में एक समुद्र तट रिसॉर्ट से।

कई Entrepreneur काम के साथ गठबंधन करते हैं जैसे वे travel करते हैं, और जगह-जगह से अपने काम को अपने साथ ले जाते हैं।

9. आप चाहे उतना काम कर पाते है।

दोस्तों, Entrepreneur होने का फायदा एक यह ही कि आप अपने financial goals सेट कर सकते है, चाहे वो एक महीने के लिए हो या एक दिन के लिए। आप अपनी अनुकूलता के हिसाब से ज्यादा या कम काम कर सकते है।

Entrepreneurship के नुकसान

1. कोई नियमित सैलरी नहीं

अपनी खुद की कंपनी चलाने का मतलब है कि आप भुगतान पाने के मामले में अंतिम स्थान पर हैं। employees, investors, loans और vendors सभी का भुगतान तब तक किया जाना चाहिए जब तक आपको किसी प्रकार का वेतन नहीं मिलता है।

बहुत बार, व्यवसाय शुरू करने के पहले या दो साल के लिए, आपको व्यवसाय शुरू करने के साथ आने वाली लागतों की लंबी सूची के कारण वेतन नहीं मिल पाता। जब तक आप अपने द्वारा प्राप्त किसी भी निवेश में वेतन नहीं लेते, तब तक आपका पहला वर्ष दुर्लभ हो सकता है।

यह कई लोगों के लिए एक बड़ा नुकसान है, खासकर उन लोगों के लिए जिनका समर्थन करने के लिए एक परिवार है।

2. ज़िम्मेदारी

Entrepreneurship प्रमुख जिम्मेदारी के बराबर है! एक Entrepreneur के रूप में, आप केवल चीजों के मौद्रिक पक्ष के लिए जिम्मेदार नहीं हैं, बल्कि आप किसी भी कानूनी मुद्दों के प्रबंधन, बिक्री सुनिश्चित करने, कंपनी को बचाए रखने, किसी भी निवेशक या ऋण अधिकारियों के साथ संवाद करने के लिए भी जिम्मेदार हैं।

एक Entrepreneur के रूप में आपको बहुत संगठित होने की आवश्यकता है, अन्यथा किसी ऐसे व्यक्ति को hire करें जो आपके लिए उपर बताए गई सभी चीज़े manage कर सकता है।

3. इन्वेस्टमेंट्स

एक बिजनेस शुरू करना कोई आसान बात नहीं है, इसके लिए आपको अच्छा खासा इन्वेस्टमेंट भी करना पड़ता है। और इन्वेस्टमेंट करने के बाद इसकी कोई गारंटी नहीं है की बिजनेस सफल ही होगा, अगर बिजनेस नही चल पता तो एक बड़े फाइनेंशियल लॉस का सामना करना पड़ सकता है।

Entrepreneur के उदाहरण

दोस्तों तो चलिए अब दुनिया के कुछ ऐसे Entrepreneur’s के बारे में जानते है जिन्होंने अपने New Ideas, Innovation, Services और Products से दुनिया को तरक्की के मुकाम तक पहुंचाने में बहुत योगदान दिया है।

1. Steve Jobs

Steve Jobs Founder Of Apple

Steve Paul Job जिन्हें हम Steve Jobs के नाम से जानते है। स्टीव जॉब्स एक अमेरिकन Entrepreneur और Investor है। अगर आप एक iPhone इस्तेमाल कर रहे है तो आपको इनके बारे में शायद पता होगा और होना भी चाहिए!

स्टीव जॉब्स Apple Inc कंपनी के Chairman, CEO और Co-founder है। Apple कंपनी का मूल्य आज के समय में $2 मिलियन से भी ज्यादा है। स्टीव जॉब्स पिक्सर के Chairman और बहुमत शेयरधारक भी थे, जो 1986 में स्थापित एक अमेरिकी कंप्यूटर एनीमेशन फिल्म स्टूडियो है।

2. Jeff Bezos

Jeff Bezos Founder Of Amazon

जेफ बेजोस Amazon के Founder हैं, जो दुनिया भर में लाखों ग्राहकों द्वारा उपयोग किया जाने वाला सबसे बड़ा eCommerce Marketplace है।

Jeff Bezos का पूरा नाम Jeffrey Preston Bezos है, वे एक अमेरिकन Entrepreneur और दुनिया के सबसे अमीर Investor है और इन्होंने अपना ग्रेजुएशन Princeton University में किया है।

5 जुलाई, 1994 को जेफ ने Amazon.com खोला, जिसका नाम दक्षिण अमेरिकी नदी के नाम पर रखा गया, जहां उन्होंने शुरुआत में 30 दिनों के भीतर अमेरिका और 45 विदेशी देशों में किताबें बेचीं। बाद में, उन्होंने सीडी, वीडियो, कपड़े, इलेक्ट्रॉनिक्स, खिलौने और बहुत कुछ डिलीवर करना शुरू कर दिया।

आज के समय में Amazon United States में leading e-retailer कंपनी है, जिसकी टोटल बिक्री 280 बिलियन अमेरिकी डॉलर है!

3. Elon Musk

Elon Musk Founder Of Tesla And Paypal

Elon Reeve Musk एक Technology Entrepreneur के साथ एक Engineer भी है। वे दक्षिण अफ्रीका, कनाडा और अमेरिका सहित कई नागरिकता रखता है और खास कर वे SpaceX के लिए प्रसिद्ध है।

Elon Musk एक all rounder Entrepreneur है जो फेमस ऑनलाइन पेमेंट सिस्टम PayPal के co-founder थे। वर्तमान समय में Elon musk SpaceX के फाउंडर, CEO और लीड डिजाइनर है। और Tesla कंपनी के co-founder, CEO और प्रोडक्ट आर्किटेक्ट है। इसके अलावा वे एक बोरिंग कंपनी के भी फाउंडर है।

4. Bill Gates

Bill Gates Founder Of Microsoft

विलियम हेनरी गेट्स जो Bill Gates के नाम से लोकप्रिय है वे एक अमेरिकी बिजनेस मैग्नेट, निवेशक, लेखक और परोपकारी हैं। वह माइक्रोसॉफ्ट फाउंडेशन के संस्थापक हैं जिसे उन्होंने 1975 में पॉल एलेन के साथ लॉन्च किया था।

बिल गेट्स दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों में से एक हैं, 1995 से 2017 तक, बिल गेट्स ने दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति का फोर्ब्स खिताब चार साल तक कायम रखा था। उन्हें मेलिंडा फाउंडेशन जैसी उनकी परोपकारी गतिविधियों के लिए भी जाना जाता है और उनकी वर्तमान कुल संपत्ति $ 120 बिलियन डॉलर से अधिक है।

5. Mark Zuckerberg

Mark Zuckerberg Founder Of Facebook

बहुत कम लोग इसे होंगे जो मार्क जुकरबर्ग के बारे में नहीं जानते होंगे। क्योंकि वे एक ऐसे लोकप्रिय सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के संस्थापक ही जिसे लगभग दुनिया में हर कोई इस्तेमाल करता है। जी हां हम बात कर रहे है फेसबुक के बारे में।

मार्क इलियट जुकरबर्ग एक अमेरिकी टेक्नोलॉजी एंटरप्रेन्योर हैं जिन्होंने Harvard University में पढ़ाई की है और वे अभी दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों में से एक है, जिनकी अनुमानित संपत्ति $ 101 बिलियन डॉलर से अधिक है।

वह फोर्ब्स के दस सबसे अमीर लोगों की सूची में 50 से कम आयु के एकमात्र व्यक्ति हैं और “टॉप 20 बिलियनर” की सूची में 40 से कम वाले एकमात्र व्यक्ति हैं। उनकी सोशल नेटवर्किंग कंपनी फेसबुक के 2.7 बिलियन से अधिक महीने के एक्टिव यूजर्स हैं!

Entrepreneur कैसे बने – How To Become Entrepreneur In Hindi?

दोस्तों आपके मन में यह सवाल हम्मेशा आपको रहता होगा की आखिर Entrepreneur कैसे बने?, लेकिन इस सवाल का जवाब अब आपको मिलने वाला है। तो चलिए अब कुछ इसे topics के बारे में जान लेते है जो आपको Entrepreneur बना ने में काफी मदद करेंगे।

1. सही बिजनेस चुने।

Entrepreneurship एक व्यापक शब्द है, और आप किसी भी क्षेत्र में एक Entrepreneur बन सकते है। हालांकि, आपको काम करने और शुरू करने के लिए व्यवसाय के लिए एक क्षेत्र चुनना होगा। एक ऐसा व्यवसाय खोजें जो केवल सफल न हो, लेकिन कुछ ऐसा है जिसके बारे में आप जिस से आपको खुशी मिलती हैं।

Entrepreneurship कड़ी मेहनत है, इसलिए आप अपना ध्यान किसी ऐसी चीज पर केंद्रित करना चाहते हैं जिसकी आप परवाह करते हैं।

2. Proper Education ले।

हां, यह बात सही है कि एक Entrepreneur बन ने के लिए आपको किस प्रकार के Education Qualifications की आवश्यकता नहीं है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं ही की आप पूरी तरह से education को नजरंदाज करे। कई ऐसी कंपनियां होती है जहां सामान्य एजुकेशन होना अनिवार्य होता है और अगर आप एक सफल Entrepreneur बन ना चाहते है तो एजुकेशन बहुत ही महत्वपूर्ण है।

3. बिजनेस प्लान बनाए।

अपना बिजनेस शुरू करने से पहले, आपके पास एक बिजनेस प्लान होना चाहिए। एक व्यावसायिक योजना उन उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए आपकी किसी भी उद्देश्य के साथ-साथ आपकी रणनीति को पूरा करती है। यह योजना बोर्ड पर निवेशकों को प्राप्त करने के लिए महत्वपूर्ण है, साथ ही यह मापने के लिए कि आपका व्यवसाय कितना सफल है।

4. अपनी Target Audience खोजे।

हर व्यवसाय हर किसी के लिए अपील नहीं करता है। आपके target audience की आयु, लिंग, आय, नस्ल और संस्कृति यह निर्धारित करने में एक बड़ी भूमिका निभाएगी कि आप अपना बिजनेस कहाँ खोलते हैं।

जो लोग आपके बिजनेस, आपके प्रोडक्ट्स, आपकी सर्विस आदि, में रुचि रखते है केवल उन्हे target किया जाए तो आपके बिजनेस के सफल होने की संभावना ज्यादा है।

5. अपना Network बनाए।

दोस्तों, नेटवर्किंग सभी क्षेत्रों में महत्वपूर्ण है, यह Entrepreneur’s के लिए सबसे महत्वपूर्ण हो सकता है। नेटवर्किंग है कि आप अन्य लोगों से कैसे मिलते हैं जिनके पास आपके व्यवसाय में उपयोग किए जाने वाले कौशल हो सकते हैं।  आप अपने व्यवसाय मॉडल को धरातल पर उतारने में मदद के लिए नेटवर्किंग के माध्यम से संभावित निवेशकों को भी पा सकते हैं।

आपका नेटवर्क आपके व्यवसाय को खोलने के बाद भी आपका समर्थन कर सकता है, नए ग्राहकों को आपके साथ जोड़ने में नेटवर्किंग काफी मदद रूप है।

6. सेलिंग

उपभोगताओं को प्रोडक्ट्स चाहिए लेकिन उन्हें हमेशा यह ते नहीं कर पाते की वे कोनसा प्रोडक्ट चुने। आपका काम एक Entrepreneur के रूप में यह भी ही की आप लोगों को केसे कन्विंस करे की जो भी प्रोडक्ट्स आप sell कर रहे है वे सभी best है।

आपको यह पता लगाना होगा कि आपके प्रोडक्ट्स को क्या unique बनाता है। और फिर उसके आधार पर आप उसे बेच सकते है।

7. मार्केटिंग

आपको अपना बिजनेस शुरू करने से पहले, उसके दौरान और बाद में मार्केटिंग पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। आपके पास शहर में सबसे अच्छा restaurant हो सकता है, लेकिन अगर किसी को यह पता ही नहीं ही कि शहर में एक बेहतरीन restaurant मौजूद है, तो वहां कोई आएगा ही नहीं।

मार्केटिंग मुश्किल है, लेकिन अगर आप अपने target किए हुए दर्शकों में अपना थोड़ा मार्केटिंग effort देते है तो आपको अपने बिजनेस में काफी सफलता मिल सकती है।

वीडियो देखे, Entrepreneur कैसे बने?

Entrepreneur के लिए अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (FAQ)

Entrepreneur क्या होता है – What Is Entrepreneur In Hindi?

एक ऐसा व्यक्ति जो पैसों का जोखिम उठा कर अपने आविष्कार और विचारों से खुदका व्यापार चालू करके पैसे कमाए उसे Entrepreneur कहा जाता है। Entrepreneur को आमतौर पर एक innovator, नए विचारों, वस्तुओं, सेवाओं और व्यापार / या प्रक्रियाओं के स्रोत के रूप में देखा जाता है।

आपको Entrepreneur क्यों बनना चाहिए?

एक Entrepreneur बनने के पीछे कई कारण हो सकते है जैसे कि, 9 से 5 जॉब करना पसंद ना होना, किसी के नीचे काम करना पसंद ना होना, कुछ नया करने की इच्छा और रिस्क लेने में रुचि।

कौन सा Entrepreneurship सबसे अच्छा है?

दोस्तों सभी प्रकार के Entrepreneurship अपने आप में best है। सभी एंटरप्रेन्योरशिप समाज के विकास के लिए जरूरी है।

Entrepreneurs कितना पैसा कमाते हैं?

Entrepreneur’s कितना पैसा कमाते है यह Entrepreneur के प्रकार और उसका बिजनेस कितना बड़ा है इस पर निर्भर करता है। India में Entrepreneur’s की average salary करीबन ₹23,000/month है।

क्या आपको Entrepreneur बनने के लिए डिग्री की आवश्यकता है?

नहीं, आपको एक Entrepreneur बनने के लिए किसी प्रकार की डिग्री की आवश्यकता नहीं है, लेकिन अगर आप एक सफल Entrepreneur बनना चाहते है तो आपको एजुकेशन से काफी मदद मिल सकती है।

क्या कंपनियां Entrepreneurs को नौकरी देती हैं?

हां, कई कंपनियां ऐसी है जो सफल हो रहे Entrepreneur’s को अपनी कंपनी में शामिल होने के लिए अवसर देती है। और कई कंपनियां ऐसी भी है जहां पर डिग्री या कॉमन एजुकेशन mandetory होता है।

Conclusion

दोस्तों हम उम्मीद करते ही कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा और जरूर कुछ नया सीखने को मिला होगा। हमने इस आर्टिकल में बताया है कि, Entrepreneur क्या होता है? और Entrepreneur Meaning in Hindi.

इसके साथ ही हमने Enterpreneurship क्या है? और Enterpreneurship के प्रकार तथा Enterpreneur के प्रकार के बारे में भी जाना। और आगे हमने आपको Enterpreneurship कैसे काम करती है? और Enterpreneurship क्यों महत्वपूर्ण है? यह भी जाना।

इसके साथ ही हमने और भी बहुत कुछ बाते Enterpreneurship के बारे में इस आर्टिकल में बताई है इसलिए अगर आपने इस आर्टिकल को पूरा नहीं पढ़ा तो जरूर इसे पूरा पढ़े।

अगर आपको Entrepreneur या Enterpreneurship से कोई भी सवाल हो तो एक बार आर्टिकल को पूरा पढ़े और फिर भी आपको कुछ समझ न आए तो आप हमे नीचे कमेंट सेक्शन में कमेंट करके भी बता सकते है।

यह आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करे और इसी ही जानकारी के लिए HindiAdviser ब्लॉग पर जरूर visit करें।

धन्यवाद।

यह भी पढ़ें:

Authored By Nikul Sagadhara

Hello, I Am Nikul Sagadhara. I Am A Co-Founder And Author Of HindiAdviser. I Am A Blogger And I Share Internet Related Information For My Readers On This Blog.

Leave a Reply